लिवर सिरोसिस क्या है?

हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग और सबसे बड़ी ग्रंथि लिवर होता है जो एंजाइम एक्टिवेशन, ब्लड को साफ करना और शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर करने जैसे कई जरुरी काम करता है लेकिन जब किसी कारण से लिवर अपना काम सही तरीके से नहीं कर पाता है तो शरीर को बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ता है। लिवर से जुड़े कई रोगों में से एक रोग लिवर सिरोसिस है जो ज्यादातर शराब की लत और हेपेटाइटिस के कारण होता है। ऐसे में आपको भी लिवर से जुड़े इस रोग यानी लिवर सिरोसिस के बारे में जरूर जानना चाहिए। तो चलिए, आज आपको बताते हैं लिवर सिरोसिस के बारे में –

लिवर सिरोसिस क्या है – लिवर सिरोसिस रोग में लिवर सही तरीके से काम करना बंद कर देता है। किसी भी कारण से क्षति पहुँचने पर लिवर खुद की मरम्मत का काम शुरू कर देता है। ऐसा होने पर स्कार टिश्यूज बनने लगते हैं जो स्वस्थ टिशूज को रिप्लेस कर देते हैं और लिवर में खून के बहाव को आंशिक रूप से रोक देते हैं। जैसे-जैसे सिरोसिस बढ़ता जाता है, स्कार टिशूज की संख्या में बढ़ोतरी होती है और लिवर की कार्यक्षमता में गिरावट आती है।

लिवर सिरोसिस के लक्षण –

  • ऊपरी पेट की त्वचा पर ब्लड सेल्स का दिखाई देना
  • भूख कम लगना
  • थकान
  • अनिद्रा
  • कमजोरी होना
  • वजन कम होना
  • जी मिचलाना
  • हथेलियां लाल होना
  • लिवर की जगह पर दर्द होना

सिरोसिस के बढ़ने के साथ-साथ ये लक्षण भी दिखाई देने लगते हैं

  • चक्कर आना
  • मसूड़ों से खून बहना
  • हार्ट बीट का बढ़ना
  • भ्रम की स्थिति होना
  • याद्दाश्त कमजोर होना
  • त्वचा पीली पड़ना और आँखें और जीभ सफेद पड़ना
  • बार-बार बुखार होना
  • सांस फूलना
  • नाक से खून बहना
  • पेशाब और मल का रंग गहरा होना
  • उलटी के साथ खून आना
  • दाहिने कंधे में दर्द होना जैसे कई लक्षण

लिवर सिरोसिस होने के प्रमुख कारण –

  • लिवर में वसा का जमाव
  • लम्बे समय से शराब का सेवन
  • हेपेटाइटिस बी और सी

इनके अलावा लिवर सिरोसिस होने के कुछ और कारण भी हो सकते हैं जैसे

  • लिवर में ताम्बे का जमाव
  • शरीर में आयरन का निर्माण
  • पित्त नलिकाओं का कमजोर होकर ख़राब होना
  • मोटापे के कारण फैटी लिवर की समस्या
  • हेमोक्रोमैटोसिस जैसा आनुवंशिक लिवर रोग होना

लिवर सिरोसिस से बचाव के लिए क्या करें –

  • शराब का सेवन ना करें
  • स्वस्थ आहार लें जिसमें वसायुक्त भोजन कम हो और फल और सब्जियों की प्रचुरता हो
  • वजन बढ़ने के कारण होने वाले लिवर रोग से बचने के लिए अपना वजन नियंत्रित रखें
  • हेपेटाइटिस बी और सी के इन्फेक्शन से खुद को बचाएं

लिवर सिरोसिस का इलाज – ब्लड टेस्ट, इमेजिंग टेस्ट और बायोप्सी जैसे टेस्ट के जरिये लिवर सिरोसिस के बारे में जाना जाता है। इसका कोई इलाज नहीं है, इसका पता लगने पर सिरोसिस को और अधिक बढ़ने से रोकने के प्रयास किये जाते हैं और हालत गंभीर होने की स्थिति में लिवर ट्रांसप्लांट का विकल्प ही बचता है।

दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि हमारे शरीर में लिवर की भूमिका कितनी अहम है और लिवर सिरोसिस कितना गंभीर रोग है। ऐसे में शराब जैसी लत को अलविदा कहना ही ठीक है और अपने आहार को पौष्टिक बनाने के अलावा व्यायाम भी बेहद जरुरी है। और हाँ, सिरोसिस से जुड़े किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी और आपको पसंद भी आयी होगी।

ब्रेन स्ट्रोक क्या है?

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।