महाराणा प्रताप के जीवन से जुड़ी 10 रोचक जानकारियां

383

सोलहवीं शताब्दी के राजपूत शासकों में महाराणा प्रताप ऐसे शासक थे जिन्होंने मुग़ल बादशाह अकबर से मरते दम तक लोहा लिया लेकिन खुद को झुकने नहीं दिया। इतिहास के पन्नों में महराणा प्रताप का नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाता है और वो आज भी लोगों के लिए प्रेरणा है। आज हम आपको महाराणा प्रताप के जीवन से जुडी कुछ ऐसी ही दिलचस्प बातें बताने वाले हैं जो हर किसी को प्रेरित कर देगी।

1. 9 मई, 1540 को राजस्थान के मेवाड़ में जन्मे महराणा प्रताप मेवाड़ के राजा उदयसिंह के पुत्र थे जिन्होंने अपनी मातृभूमि की रक्षा और स्वाभिमान के लिए ताउम्र संघर्ष किया। 16वीं शताब्दी में महराणा प्रताप एकमात्र ऐसे शासक थे जिन्होंने अकबर से लोहा लेने का साहस किया लेकिन कभी अकबर के सामने झुके नहीं।

2. महाराणा प्रताप लम्बी चौड़ी कद काठी के स्वामी थे उनका कद साढ़े सात फुट था जबकि वो करीब 110 किलोग्राम वजनी गठीले शरीर के स्वामी थे। उनका सुरक्षा कवच 72 किलोग्राम और भाले 80 किलो वजन के थे। तलवारों सहित सभी औजार और शस्त्रों को मिलाकर वो करीब 208 किलो वजन के साथ युद्ध किया करते थे।

3. हल्दीघाटी का युद्ध 18 जून, 1576 ई. को लड़ा गया था और उसमे महाराणा प्रताप के पास सिर्फ 20000 सैनिक थे जबकि अकबर के पास 85000 सैनिक थे लेकिन फिर भी महाराणा प्रताप ने अपना साहस नहीं खोया और अकबर की सेना से लोहा लिया और और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करते रहे।

4. महाराणा प्रताप ने अपने जीवन में कुल 11 शादियां की थीं लेकिन माना जाता है इनकी सभी शादियों के पीछे राजनैतिक कारण थे।

5. जब भी महाराणा प्रताप का जिक्र होता है तो साथ में उनके घोड़े चेतक की वीरता को भी याद किया जाता है। चेतक ने हमेशा महाराणा प्रताप के लिए वफादारी दिखाई जिसने अपनी जान की परवाह ना करते हुए 26 फुट गहरे दरिया से कूदकर महाराणा प्रताप की जान बचाई।

6. हकीम खां सूरी हल्दीघाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप की सेना में एकमात्र मुस्लिम सरदार था।

7. ऐसा कहा जाता है कि महाराणा प्रताप की मौत की खबर सुनकर अकबर भी हैरान रह गया था क्योंकि वो खुद भी इस बात को मानता था की महाराणा प्रताप जैसा शूरवीर पूरी दुनिया में नहीं है।

8. अकबर ने महाराणा प्रताप के सामने उनकी सियासत में शामिल होने का ऑफर दिया और कहा बदले में उन्हें आधे हिन्दुस्तान की सत्ता का मालिक बना दिया जायेगा लेकिन महाराणा प्रताप ने इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया। अकबर लगातार 30 सालों तक महाराणा प्रताप को बंदी बनाने का प्रयास करता रहा लेकिन कभी सफल नहीं हो सका।

9. कहा जाता है की अकबर ने युद्ध को शांतिपूर्ण तरीके से समाप्त करने का प्रस्ताव महाराणा प्रताप को भेजा था लेकिन महाराणा प्रताप ने ये प्रस्ताव ये कहते हुए ठुकरा दिया की वो एक राजपूत योद्धा हैं और ऐसा करना उन्हें बर्दाश्त नहीं होगा।

10. महाराणा प्रताप को बचपन में कीका के नाम से पुकारा जाता था।

“आइंस्टीन के बारे में कुछ अनसुने रोचक तथ्य”
“चाणक्य के बारे में कुछ रोचक तथ्य”
“मिश्र के पिरामिडों से जुड़े कुछ अनसुने रोचक तथ्य”

Add a comment