Mid-Caps की गिरावट – निवेशक क्या करें?

अगस्त 8, 2018

बजट के बाद से पिछले लगभग 6 महिनों में Mid & Small Cap stocks में बहुत भयंकर गिरावट आ गयी है। कई शैयर्स तो 50 प्रतिशत से 80 प्रतिशत तक धट गये है। निवेशकों का बहुत पैसा डूब सा गया है। निवेशक परेशान है कि क्या करें।

मेरा स्पष्ट मानना है कि यह ही वो वक्त होता है जब अच्छे व स्मार्ट निवेशक को अपना पैसा लगाना चाहिए। S.I.P. के साथ Lumpsum या 70-120 दिनों की S.T.P करनी चाहिएं। मुझे Mid & Small Cap में अब यहॉ से मन्दी नहीं दिखाई देती है। निवेशकों को बिलकुल भी चिन्ता नहीं करनी चाहिए। अभी 12 से 15 महिने की S.I.P भी Negative रिटर्न दे रही है। मै शुरू से ही कहता आया हुॅ कि Mid & Small Cap में निवेशकों को कम से कम 5 से 7 साल का Time लेकर ही इन्वेस्ट करना चाहिए। दो तीन साल तक भी Mid & Small Cap की S.I.P. नेगेटीव हो सकती है। परन्तु 5 से 7 वर्ष के समय के बाद हर हालत में 12 प्रतिशत से 18 प्रतिशत रिर्टन आयेगी ही आयेगी।

सो वर्तमान समय में निवेशक बुद्विमानी दिखाये व स्मार्ट निवेशक बने S.I.P Top Up करें, Additionl purchase करें। S.I.P. किसी भी हालत में Stop या Pause नहीं करें (ये Suicide जैसा है)। Over All Indian Economy बहुत अच्छा कर रही है।

Market Clear Political Future Indicator का Wait कर रहा है। Market को अस्थिरता पसन्द नही आती। Highway पर बडे स्पीड ब्रेकर होने से गाडी धीमी करनी ही पडती है। निवेशक पूर्ण निश्चिन्ता व विश्वास के साथ इस बडे Fall को opportunities में बदलें। लेकिन वो ही निवेशक पैसा लगाये जो कम से कम 5-7 साल का Vision रखता हो। M/F या शेयर मार्केट में कोइ Short cut or Short Term नही होता है।

sodhani-1 Mid-Caps की गिरावट - निवेशक क्या करें?ये लेख फाइनेंशियल एडवाइजर श्री राजेश कुमार सोढानी, सोढानी इंवेस्टमेंट्स, जयपुर द्वारा प्रस्तुत है। फाइनेंशियल प्लानिंग पर आधारित ये लेख आपको कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“S.I.P में देरी की लागत”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें