भगवान बचाए इन सबसे खतरनाक लाइलाज बिमारियों से

573

जहाँ आज हमारा देश चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बिमारियों से जूझ रहा है जिसमे लाखों लोगों की मौत हो जाती है वहीँ दूसरी और दुनिया भर में कुछ ऐसी बीमारियां भी हैं जो काफी खतरनाक हैं जिनका कोई इलाज नहीं है आखिरकार इन बिमारियों से ग्रसित मरीज को जान गवानी पड़ती है।

आज हम आपको दुनिया की कुछ ऐसी ही खतरनाक, जानलेवा और लाइलाज बिमारियों के बारे में बताते हैं जिन्हें देखकर आप भी यही कहेंगे भगवान बचाये ऐसी बिमारियों से।

Meningitis

इस बीमारी को मस्तिष्क ज्वर का नाम भी दे सकते हैं, इस बीमारी के कारण मस्तिष्क तथा मेस्र्रज्जु के पास सूजन हो जाती है और ये सूजन संक्रमण और कुछ ख़ास तरह के वायरस के कारण होती है, ये बिमारी जानलेवा साबित हो सकती है!

Swine flu

शूकर इन्फ्लूएंजा बैक्टीरिया के जरिये ही स्वाइन फ्लू फैलता है जिसे H1N1 का नाम भी दिया गया है। ये बैक्टीरिया सुअरो में पाया जाता है और जो लोग सुअर का मांस खाते हैं उन्हें ये बिमारी होने का ज्यादा खतरा होता है। ये एक जानलेवा बिमारी है।

Syphilis

ये बीमारी यौन संपर्क से फैलता है जो स्पाइरोश बैक्टीरिया ट्रेपोनेमा पैलिडम के कारण होती है। अगर ये बीमारी किसी महिला को हो जाये तो ये बीमारी उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को भी हो सकती है।

श्वास नली का संक्रमण

वैसे श्वास नली का संक्रमण ऊपरी हिस्से और निचले हिस्से दोनों में हो सकता है लेकिन निचले हिस्से का संक्रमत बेहद खतरनाक होता है। कई बार ये बीमारी जानलेवा भी हो जाती है।

Cerebrovascular

ये बीमारी भी एक जानलेवा बिमारी है इसमें रोगी के दिमाग तक खून नहीं पहुँच पाता और मस्तिष्क में ऑक्सिजन की कमी के कारण रोगी की मृत्यु हो जाती है।

SARS

इस बीमारी की शुरुआत दक्षिण चीन से हुई थी और साल 2002 – 2003 में इस बीमारी से 8273 लोग ग्रसित हुए थे उनमे से 775 लोगों की मृत्यु हो गई थी।

Leprosy (कुष्ठ रोग)

ये बहुत ही घिनोनी बीमारी है जो माइकोबैक्टिरिअम लेप्राई बैक्टिरीया के कारण होती है। इसमें रोगी की त्वचा, श्वास नली, आंखों और शरीर के दूसरे हिस्से ग्रसित होते हैं। इस बीमारी में रोगी के शरीर पर पीले और ताम्र रंग के धब्बे हो जाते हैं जो देखने में बहुत ही घिनोने होते हैं।

Measles (खसरा)

ये बीमारी पैरामिक्सोवायरस के संक्रमण से श्वास में फैलती है और रोगी को बुखार, खांसी, जुकाम और लाल आंखे होने की समस्या होने लगती है। ये बीमारी बहुत ही तेजी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति हो फैलती है।

HIV एड्स

HIV एड्स का अभी तक भी कोई इलाज संभव नही हो पाया है ये एक जानलेवा बीमारी है। असुरक्षित योन संबधं, संक्रमित सुई का प्रयोग करने से, संक्रमित खून चढ़ाने से ये बीमारी एक दूसरे में फैलती है।
ये एक अनुवांशिक बीमारी भी है जो संक्रमित माँ से होने वाले बच्चे को भी हो सकती है। इस बीमारी का अंत सिर्फ रोगी की मौत है।

Malaria (मलेरिया)

मलेरिया एक मादा मच्छर के काटने से होता है, ख़ास तौर पर ये बीमारी बारिश के मौसम में फैलती है क्योंकि ये मच्छर जमा हुए पानी में पनपते हैं। ये बीमारी कई बार जानलेवा भी साबित होती है और कुछ परिस्थितियों में ये बीमारी रोगी को कोमा में भी पहुंच देती है।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment