इन 9 शहरों में सांस लेना है बेहद खतरनाक

285

आजकल बढ़ते औद्योगिक कारखानों और वाहनों के चलते हर जगह वायु प्रदूषण फैल रहा है जो हमारे सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक है। आज हम आपको दुनिया के 9 ऐसे शहरों के बारे में बताएंगे जहां वायु प्रदूषण सबसे ज्यादा है और लोगों का यहां रहना उनकी सेहत के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रहा है।

नई दिल्ली, भारत

दिल्ली में बीते समय से अब तक गाड़ियों की संख्या बेहद बढ़ गई है और इसी कारण यहां वायु प्रदूषण बहुत ज्यादा है। गाड़ियों के अलावा यहां कोयले के पावर प्लांट भी प्रदूषण के खासा जिम्मेदार हैं और इसी कारण दिल्ली में सांस लेना भी बेहद खतरनाक हो गया है।

उलान बतोर, मंगोलिया

यूँ तो यह बेहद ठंडा शहर है लेकिन यहां वायु प्रदूषण काफी ज्यादा है। यहां होने वाली धुंध ठंड के कारण कम बल्कि कोयले और लकड़ी जलाने के कारण ज्यादा होता है और इसी कारण यहां सांस लेना भी बेहद खतरनाक हो गया है। यहां वायु प्रदूषण सुरक्षित पैमानों से भी 7 गुना ज्यादा है।

बीजिंग, चीन

बीजिंग, चीन की राजधानी है और यहां काफी ज्यादा धुंध बनी रहती है। इसी कारण वैज्ञानिक इस शहर को रहने के लिए असुरक्षित मानते हैं। आपको शायद जानकर आश्चर्य होगा कि दुनिया भर में करीब 35 लाख लोग हर वर्ष वायु प्रदूषण के कारण अपनी जान गवा देते हैं और इनमें से आधे मामले सिर्फ चीन के होते हैं।

लाहौर, पाकिस्तान

लाहौर भी बढ़ते वायु-प्रदूषण की समस्या से जूझ रहा है। यहां के आसपास के मरुस्थल से उड़ती हुई रेत और वाहनों के धुएं से होने वाले वायु प्रदूषण के चलते यहां सांस लेना बेहद खतरनाक हो गया है।

रियाध, सऊदी अरब

यहां वायु प्रदूषण होने का मुख्य कारण है यहां के रेत के तूफान। इसके अलावा वाहन और औद्योगिक कारखानों से निकलते धुंए भी यहां की वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार हैं जिस कारण यहां वायु प्रदूषण की दर बढ़ती जा रही है।

काहिरा, मिस्र

काहिरा में लगातार बढ़ते वाहन और औद्योगिक कारखानों से निकलते धुएं के कारण यहां की वायु काफी प्रदूषित होती जा रही है और इस कारण यहां लोगों में स्वांस संबंधी कई बीमारियां फैल रही है जिस कारण यह शहर रहने के लिए बेहद खतरनाक होता जा रहा है।

ढाका, बांग्लादेश

यहां के वायु प्रदूषण से होने वाली मौत के आंकड़े काफी आश्चर्यजनक हैं। आपको भी यहां हर साल वायु प्रदूषण के कारण करीब 15000 लोग अपनी जान गवा देते हैं। शोध की माने तो यहां वायु में सल्फर डाइऑक्साइड का स्तर दुनिया में सबसे ज्यादा है।

मॉस्को, रूस

मॉस्को में बहुत ज्यादा धुंध रहती है और इसी कारण यहां वायु में हाइड्रोकार्बन का स्तर हमेशा उच्च रहता है जिस कारण यहां वायु प्रदूषण की दर काफी बढ़ती जा रही है।

मेक्सिको शहर, मेक्सिको

तीन तरफ से पहाड़ियों से घिरे मेक्सिको में हाइड्रोकार्बन और सल्फर डाई आक्साइड की मात्रा काफी उच्च है। यहां के औद्योगिक कारखानों और बढ़ते वाहनों के चलते यहां वायु प्रदूषण काफी ज्यादा बढ़ गया था जिस कारण यहां रहना काफी दूभर हो गया था। लेकिन अब यहां कई फैक्ट्रियों को बंद करने और यहां के यातायात को नियंत्रित करने से यहां के हालात पहले से काफी बेहतर हुए हैं।

Add a comment