इतिहास में कलाकृतियों की सबसे बड़ी चोरियां

चोरी करना चोरों का सबसे बड़ा हुनर होता है, कई चोर तो इतने माहिर होते हैं की कड़ी सुरक्षा के बावजूद बड़ी से बड़ी चोरियां करने में भी सफल हो जाते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी ही चोरियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनमे चोरों ने इतिहास की शानदार और कीमती कलाकृतियां चुरा ली।

‘मोनालिसा’ की चोरी

लियोनार्डो द विंची द्वारा बनाई गई दुनिया की सबसे नामी पेंटिंग ‘मोनालिसा’ 1911 में पेरिस के लूव्रे म्यूजियम से चोरी हो गई थी। ये चोरी दुनिया की कलाकृतियों की सबसे बड़ी चोरियों में आती है, हालाँकि पुलिस ने 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद इस पेंटिंग को बरामद कर लिया।

सबसे ज्यादा बार चुराई गई पेंटिंग

रेमब्रांड्ट द्वारा बनाई गई पेंटिंग ‘जाक III द गैन’ अब तक की सबसे ज्यादा बार चुराई गई पेंटिंग है। इसे ब्रिटेन की दलिच पिक्चर गैलरी से बार नहीं बल्कि बार चुराया जा चूका है। इसे 1966 में और 1973, 1981 और 1986 में चुराया गया लेकिन खास बात ये है की इसे हर बार बरामद कर लिया गया।

13 पेटिंग की रहस्यमयी चोरी

1990 में इसाबेला स्टुआर्ड गार्डनर म्यूजिमय 2 चोर फ़िल्मी तरीके से पुलिस के भेस में आये और यहाँ से एक नहीं बल्कि 13 पेटिंग चुराकर ले गए। ये सभी पेंटिंग्स बहुत कीमती और शानदार थी। अब यहाँ इन पेंटिंग्स के सिर्फ फ्रेम लटके हैं अब तक ना तो ये पेंटिंग्स बरामद ki गई और ना ही चोरों का पता चला।

मिलीभगत से की गई चोरी

1991 में एम्सटरडैम के वान गॉग म्यूजियम में 20 कीमती पेंटिंग्स की चोरी मिलीभगत से की गई और इसे अंजाम देने के लिए चोर ने बिना किसी की नजर में आये खुद को इस म्यूजियम के शौचालय में बंद कर लिया और फिर यहाँ के वार्डन से सांठगांठ कर 20 कीमती पेंटिंग्स चुरा ली लेकिन राहत की बात ये रही की अगले एक घंटे में पुलिस ने इन पेंटिंग्स को ढूंढ निकाला और कुछ महीनों बाद चोर को पकड़ लिया।

लियोनार्दो द विंची की कीमती पेंटिंग ‘मैडोना ऑफ द यार्नविंडर’

2003 में एक स्कॉटिश कासल से लियोनार्दो द विंची की कीमती पेंटिंग ‘मैडोना ऑफ द यार्नविंडर’ किन्हीं 2 चोर ने चुरा ली। इस पेंटिंग की कीमत है 7.6 करोड़ डॉलर और चोर इस पेंटिंग को चुराने पर्यटक बनकर आये थे और सुरक्षाकर्मियों की आँखों में धूल झोंककर ये पेंटिंग चुरा ले गए। लेकिन राहत की बात ये रही की 4 साल बाद इस पेंटिंग को एक छापे में बरामद कर लिया गया।

मंच म्यूजियम में चोरी

2004 में दो हथियारबंद लुटेरे मंच म्यूजियम पर हमला कर एडवार्ड मंच द्वारा बनाई गई 2 पेटिंग ‘द स्क्रीम’ और ‘मडोना’ चुराकर ले गए थे। हालाँकि कुछ समय बाद पुलिस ने इन पेंटिंग्स को बरामद कर लिया था लेकिन उस समय ‘द स्क्रीम’ काफी क्षतिग्रस्त हो गई थी।

यूरोप की सबसे बड़ी आर्ट डकैती

यूरोप के ज्यूरिख के ब्यूर्ले कलेक्शन से सन 2008 में कुछ हथियारबंद चोरों ने हमला कर 4 बेशकीमती पेंटिंग्स चुरा ली थी जिनकी कुल कीमत करीब 18.2 करोड़ डॉलर थी। ये 4 कीमती पेंटिंग्स थी पॉल सेजाने की ‘द बॉय इन द रेड वेस्ट’, एडगार डुगा की ‘लुडोविक लेपिक एंड हिज डॉटर्स’, विंसेट फान गॉग की ‘ब्लॉसमिंग चेस्टनट ब्रांचेज’ और क्लौद मोने की ‘पॉपी फील्ड नियर वितई’। हालाँकि राहत की बात ये रही की इन पेंटिंग्स को कुछ समय बाद बरामद कर लिया गया।

100 किलो सोने के सिक्के की चोरी

इसी साल हाल ही में कुछ शातिर चोरों ने बर्लिन के बोड म्यूजियम से 100 किलो का विशाल सोने का सिक्का चुरा लिया जो करीब 40 लाख डॉलर की कीमत वाला था। इस सिक्के की ऊंचाई है 53 सेंटीमीटर जबकि ये 3 सेंटीमीटर मोटा है। इस बेशकीमती सिक्के का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है।

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment