मुहांसे होने के कारण और इन्हें दूर करने के उपाय

खूबसूरत त्वचा और चमचमाते चेहरे का अरमान सभी का होता है और ख़ास कर युवावस्था में कदम रखने के दौरान युवाओं में अपने रूप को लेकर खासी सजगता रहती है। लेकिन इसी अवस्था की शुरुआत में जहाँ एक और उनका मन रोमांच से भरा होता है वहीं दूसरी और उन्हें सामना करना पड़ता है जिद्दी मुहाँसो का। युवावस्था के समय शरीर में कई बदलाव होते है जैसे रासायनिक और हार्मोनल बदलाव। इस दौरान त्वचा में उपस्थित सेबेशियस ग्लैंड से निकलने वाले तैलीय पदार्थ सीबम की मात्रा बढ़ जाती है जो मुहांसे का रूप लेने लगती है।

Visit Jagruk YouTube Channel

इसके अलावा मुहांसे होने का एक और कारण है तैलीय त्वचा होना यानि चेहरे पर मौजूद तेल ग्रंथियों से ज्यादा मात्रा में तेल का निकलना। इस अतिरिक्त तेल से जीवाणु पनपते है जो त्वचा में जम कर मुहांसे बना देते है।

कुछ और कारण भी है जो मुहांसों के लिए जिम्मेदार होते है–

महिलाओं में मासिक धर्म – मुहांसे निकलना महिला और पुरुष दोनों में सामान्य बात है लेकिन पुरुषों की तुलना में इस समस्या का सामना महिलाओं को ज्यादा करना पड़ता है। इसका कारण है मासिक धर्म या रजोनिवृत्ति के दौरान होने वाले हार्मोनल बदलाव। इस हार्मोनल असंतुलन को चेहरे पर बढ़े हुए मुहांसो के रूप में देखा जा सकता है। इसके अलावा अनियमित मासिक धर्म चक्र, गर्भावस्था के दौरान होने वाले हार्मोन परिवर्तन या गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन शुरू करने या बंद करने से भी असंतुलन बढ़ता है जो मुहांसों का रूप ले लेता है।

आनुवंशिक कारण – कुछ लोगों में मुहांसे होने की प्रवृत्ति आनुवंशिक भी होती है यानि अगर माता पिता को ये परेशानी रही हो तो उनके बच्चों को भी इस मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

कॉस्मेटिक सामान का ग़लत चुनाव – अक्सर यही हुआ करता है कि बाजार में आकर्षक रूप में बिकने वाले सामान को हम अपने घर ले आते है बिना ये सोचे समझे कि ये हमारे लिए उपयोगी भी है या नहीं। ऐसा ही कॉस्मेटिक सामान के चुनाव में भी किया जाता है। सुन्दर बनाने और चेहरे पर चमक लाने की गारंटी देने वाले लुभावने प्रचार के चलते हम कोई भी क्रीम, लोशन खरीद कर उसका इस्तेमाल करने लगते है बिना जाने कि हमारी त्वचा की प्रकृति कैसी है और इसका परिणाम भी कई बार मुहांसों के रूप में सामने आता है।

सफाई की अनदेखी – आपका तौलिया, तकिया और कपडे रोज़मर्रा में काम आने वाली चीज़ें होती हैं जिनकी सफाई पर कई बार आप ध्यान नहीं दे पाते है और इनकी गन्दगी आपके चेहरे पर मुहांसे पैदा करने के लिए काफी होती है।

खानपान की ग़लत आदतें – आज कल जंक फूड खाना एकदम सामान्य बात हो गयी है साथ ही तैलीय और चटपटे खाने को भी काफी पसंद किया जाता है। ज्यादा मीठा, ज्यादा ठंडा और बासी खाना खाने की आदत कुछ लोगों को होती है और ये सभी आदत मिल कर मुहांसों बनने का कारण बनती है।

मुहाँसे होने के कारणों को जान लेने के बाद अब आपको बताते है कि अपने आहार में किन चीज़ों को शामिल करके आप मुहांसों से दूरी बना सकते हैं–

पानी पीने की आदत डालिये – रोज़ाना कम से कम 8 गिलास पानी जरूर पीजिये। ऐसा करने से ना केवल आपका पाचन तंत्र स्वस्थ रहेगा बल्कि त्वचा भी चमकदार और स्वस्थ बनी रहेगी क्योंकि पानी पीने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते है।

फाइबर युक्त भोजन को अपनाइए – आज कल पौष्टिक खाने की जगह जंक फूड ने ले ली है जिसमें फाइबर नहीं पाया जाता है। हमारे शरीर को एक दिन में 40 ग्राम फाइबर की जरूरत होती है जो हमे गेहूँ, फल, सब्जियों, बीन्स और चावल से मिलता है। फाइबर शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करके, दिल को स्वस्थ रखता है साथ ही आंतों को मजबूती देने के अलावा कोलन कैंसर यानि मलाशय के कैंसर से भी बचाता है।

ग्रीन टी पिए – चाय पीना अधिकांश लोग पसंद करते है लेकिन ग्रीन टी अभी उतना चलन में नहीं आयी है जितना दूध वाली चाय। अगर आप ग्रीन टी नहीं पीते है तो अब इसे पीने की शुरुआत कर दीजिये क्योंकि भले ही ग्रीन टी स्वाद में कड़वी लगती है लेकिन इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते है जो शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते है जिससे चेहरे पर चमक भी आती है और मुहांसे होने की सम्भावनाएँ भी काफी कम हो जाती है।

अपने दैनिक जीवन में तो आप इन सभी बातों का ध्यान रख ही लेंगे लेकिन अब आपको बताते है कुछ ऐसे उपाय जो आपको मुहाँसे कम करने में मदद करेंगे–

मेथी – मेथी के ज़ायके से आप परिचित है लेकिन इसके गुणों से शायद आप अब तक अनजान है। मेथी में सोडियम, जिंक, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, कॉपर, नियासिन, थियामिन और कैरोटीन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो चेहरे को सुन्दर बनाये रखने के साथ साथ मुहाँसो के दर्द में भी राहत दिलाते है। इसके लिये आप को सिर्फ इतना करना है कि मेथी की पत्‍तियों को पीसकर, इसका पेस्‍ट बना कर 15 मिनट के लिए चेहरे पर लगाए और फिर हल्के गरम पानी से धो लें।

चीनी – चीनी से मिठास तो मिलती ही है लेकिन साथ ही यही चीनी आपके चेहरे पर भी निखार की मिठास लाने में कारगर सिद्ध हो सकती है। इसके लिए आपको एक चम्मच चीनी में दूध पाउडर का 1 बड़ा चम्मच और एक चम्मच शहद ले कर इन सब का मिश्रण बनाना होगा और इसे 15 मिनट चेहरे पर लगाना होगा। मुहाँसो से निजात पाने के लिए इस उपाय को जरूर आज़मा कर देखे।

आलू – आलू का नाम सुनते ही आपको आलू से बने लज़ीज़ व्यंजन दिखाई देने लगे होंगे लेकिन रसोई पर राज करने वाला ये आलू आपके चेहरे की रंगत कैसे बढ़ाता है ये शायद आपको मालूम न हो। ये जानने के लिए आप एक आलू को बारीक पीसकर उसमें 2-3 चम्मच कच्चा दूध मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और रोज़ाना सुबह शाम इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। इस लेप को कुछ देर के लिए चेहरे के काले निशानों पर लगा रहने दे। इसके बाद साफ पानी से चेहरा साफ कर लें। बहुत जल्द आपके चेहरे से निशान दूर हो जाएंगे और मुंहासों से राहत मिलने लगेगी।

एलोवेरा का रस – सौन्दर्य की जब जब बात होती है एलोवेरा का ज़िक्र जरूर आता है क्योंकि इसमें ख़ूबसूरती बढ़ाने और बनाये रखने के गुण पाए जाते है जो पूरी तरह से प्राकृतिक होते है। इसका गूदा चेहरे पर लगाने से चेहरा चमकदार बनता है और अगर आप दिन में दो बार मुहाँसो पर एलोवेरा जूस लगाएंगे तो जल्द ही मुहाँसे भी दूर होने लगेंगे।

नीम – त्वचा सम्बन्धी रोगों को दूर करने के लिए नीम में विशेष औषधीय गुण पाए जाते है जो मुंहासे, छाले, खाज-खुजली और एक्जिमा जैसी समस्याओं को दूर करते हैं। इसे अपने चेहरे पर रोजाना लगाकर आप मुंहासों से छुटकारा पा सकते है ।

भले ही आप मुहांसों की समस्या से गुजर रहे हो लेकिन आपको निराश होने की जरुरत नहीं है। अब आप मुहांसे होने के कारण भी जान चुके है और इनसे बचने और इन्हें दूर करने के उपाय भी। इसलिए आज ही से इन बातों पर गौर कीजिये और अपने चेहरे को दमकदार बनाकर इस पर मुस्कान ले आइये।

हमने आपसे सिर्फ ज्ञानवर्धक जानकारी साझा की है। कोई भी प्रयोग आजमाने से पहले अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल जरूर करे और अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर ले। सदैव खुश रहे और स्वस्थ रहे।

“इन घरेलू उपाय से करे घुटनों का दर्द खत्म”