मुंबई के पर्यटन स्थल

0

आइये जानते हैं मुंबई के पर्यटन स्थल के बारे में। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई को सपनों की नगरी कहा जाता है। इस मायानगरी में हर कोई तेज रफ्तार के साथ भागता हुआ नज़र आता है और सुबह से शाम तक दौड़ती रोजमर्रा की जिंदगी को देखना भी किसी रोमांच से कम नहीं होता है।

इस शहर में हर दिन कितने ही युवा फिल्मी सितारा बनने की चाहत लिए आते हैं। इस चकाचौंध से भरे शहर में घूमने के लिए बहुत से टूरिस्ट स्पॉट्स हैं। ऐसे में क्यों ना, आज मुंबई के पर्यटन स्थल की सैर की जाए। तो चलिए जागरूक पर आज इस मुंबई नगरिया की सैर पर चलते हैं।

मुंबई के पर्यटन स्थल 1

मुंबई के पर्यटन स्थल

मरीन ड्राइव – मरीन ड्राइव को आपने बहुत सी हिंदी फिल्मों में जरूर देखा होगा लेकिन जो नज़ारा इस जगह को नजदीक से देखने पर मिलेगा, उसकी बात ही कुछ और होगी। चर्चगेट स्टेशन से केवल 500 मीटर की दूरी पर ये तट स्थित है जो मुंबई के समुद्र का दक्षिणी क्षेत्र है।

इसकी तट रेखा दिखने में इतनी खूबसूरत लगती है कि यहाँ के लोगों ने इसे क्वींस नैकलेस नाम दे दिया है। मुंबई के लोग, अपनी भागती हुयी ज़िन्दगी से कुछ राहत के पल चुराने के लिए यहाँ आते हैं और किनारे से टकराती लहरें देखकर उन्हें सुकून के कुछ लम्हें मिल ही जाते हैं।

जुहू बीच – मुंबई का जुहू बीच एक बेहतरीन टूरिस्ट स्पॉट है, जो ना केवल यहाँ के स्थानीय लोगों और पर्यटकों की पसंद है बल्कि फिल्म निर्माताओं के लिए भी खास महत्त्व रखता है।

इस बीच को आपने बहुत-सी हिंदी और दूसरी भाषाओं की फिल्मों में देखा होगा और इस बीच के साथ जुहू चौपाटी भी एक बढ़िया स्पॉट है जहाँ जाकर आप मुंबई के ज़ायके का भरपूर आंनद ले सकते हैं।

हाजी अली – हाजी अली मुंबई की प्रसिद्ध दरगाह और मस्जिद है। इसका निर्माण 1431 में सैय्यद पीर हाजी अली शाह बुखारी की याद में करवाया गया था। ये दरगाह वरली की खाड़ी में स्थित है और एक छोटे से टापू पर बनाई गयी है।

यहाँ जाने के लिए मुख्य सड़क से एक सेतु बना हुआ है जिसकी ऊंचाई काफी कम है और इसके दोनों तरफ समुद्र है। मुंबई के इस धार्मिक पर्यटन स्थल पर सभी धर्मों के लोग पूरी आस्था के साथ आते हैं।

गेटवे ऑफ इंडिया – इसे भारत का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। ये मुंबई के दक्षिण में समुद्र तट पर स्थित है। इस प्रवेश द्वार का निर्माण 2 दिसम्बर 1911 को राजा जॉर्ज पंचम और रानी मैरी के भारत आगमन की यादगार में किया गया और 1924 में ये द्वार बनकर तैयार हुआ।

एलिफेंटा की गुफाएं – एलिफेंटा की गुफाएं मुंबई से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ये 7 गुफाओं से मिलकर बनी है। ये गुफाएं पौराणिक देवताओं की भव्य मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है जिनमें भगवान शिव की मूर्ति सबसे ज्यादा लोकप्रिय है।

इन प्राचीन गुफाओं में हाथ से बने भित्ति चित्र है जो अजंता-एलोरा की गुफाओं के समान है। ये स्थान मुंबई के शांत और सुन्दर पर्यटन स्थलों में से एक है।

सिद्धि विनायक मंदिर – ये भगवान गणेश का प्रसिद्ध मंदिर है जहाँ हर धर्म के लोग पूजा-अर्चना के लिए आते हैं। कहा जाता है कि इस मंदिर में आकर हर भक्त की मनोकामना पूरी होती है।

लोनावला – मुंबई से 96 किलोमीटर दूर स्थित ये हिल स्टेशन अपने खूबसूरत नज़ारों के लिए फेमस है और इसे हिंदी फिल्मों में भी आपने जरुर देखा होगा। यहाँ पहाड़ियों और घाटियों के अद्भुत नज़ारें मुंबई वासियों के लिए इसे पसंदीदा पिकनिक स्पॉट बनाते हैं।

बारिश में बहने वाला झरना और सुहाना मौसम प्रकृति प्रेमियों को यहाँ बार-बार आने के लिए प्रेरित करता है।

फ्लोरा फाउंटेन – इस फाउंटेन का नाम रोम में समृद्धि के देवता के नाम पर पड़ा। इसका निर्माण 1869 में सर बार्टले फरेरे के सम्मान में किया गया जिन्होंने मुंबई के निर्माण में सहयोग किया था। अब ये फाउंटेन उस क्षेत्र में है जहाँ महाराष्ट्र राज्य के लिए शहीद होने वालों की याद में स्मारक बनाया गया है।

मालाबार हिल – मालाबार हिल में हैंगिंग गार्डन है जहाँ शाम के समय बहुत भीड़ हो जाती है। यहाँ झाड़ियों को काटकर जानवरों की शक्ल दी गयी है जिन्हें बहुत पसंद किया जाता है। यहाँ से शहर का बेहतरीन नज़ारा देखा जा सकता है।

ताज महल होटल – भारत के सर्वश्रेष्ठ होटलों में से एक ताज महल होटल मुंबई की सबसे बड़ी पहचान है। 104 साल पुरानी इस इमारत का निर्माण 1903 में जमशेदजी टाटा ने करवाया था।

उम्मीद है जागरूक पर मुंबई के पर्यटन स्थल कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here