मुरलीकांत पेटकर कौन है?

मुरलीकांत पेटकर एक ऐसी शख्सियत हैं जिन्होंने कभी भी हारना और झुकना नहीं सीखा। मुरलीकांत पेटकर ही वो पहले भारतीय खिलाड़ी थे जिन्होंने भारत को ओलम्पिक में स्वर्ण पदक दिलवाया। इससे पहले सामान्य ओलम्पिक में भी भारत को स्वर्ण पदक नहीं मिला था और उस समय उन्होंने पैरालिम्पिक में स्वर्ण पदक जीतकर अपने देश का नाम रोशन कर दिया।

अपने प्रयासों, लगन और जज़्बे से मुकाम हासिल करने वाले शख्स मुरलीकांत पेटकर सेना के ऐसे जवान रहे हैं जिन्होंने 1965 में पाकिस्तान से युद्ध के समय अपना पैर गँवा दिया था। इस युद्ध में वो बुरी तरह घायल हुए थे, उन्हें 7 गोलियां लगी थी और उसके बाद वो 17 महीने तक कोमा में रहें। ऐसे मुश्किल भरे हालात भी इस जवान का हौसला तोड़ नहीं पाए और उन्होंने अपने हौसलों के दम पर जीत हासिल कर ही ली।

मुरलीकांत पेटकर भारत के प्रोफेशनल बॉक्सर भी थे जिन्हें 1968 के ओलम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व करना था लेकिन पैर खोने के बाद ओलम्पिक में भारत की ओर से शामिल होने का उनका ये सपना टूट चुका था लेकिन अपनी जीवटता के दम पर उन्होंने 1968 में हुए पैरालिम्पिक खेलों में से टेबल टेनिस में भाग लिया और दूसरे राउंड तक भी पहुंच गए।

इसके बाद उन्होंने स्विमिंग की ओर अपना रुख किया और इंटरनेशनल स्विमिंग में 4 मैडल भी जीत लिए और साल 1972 में हुए पैरालिम्पिक में मुरलीकांत पेटकर ने गोल्ड मैडल जीतने के अपने सपने को हकीकत का रूप दे ही दिया। इस समय उन्होंने जैवलिन थ्रो, सलालोम और स्विमिंग में भाग लिया और वो इन तीनों ही खेलों के फाइनल राउंड तक भी पहुंच गए।

इतना ही नहीं, उन्होंने स्विमिंग के 50 मीटर फ्री स्टाइल में गोल्ड मैडल भी जीत लिया और इस तरह सेना के इस जवान ने ना केवल युद्ध के दौरान देश की सुरक्षा के लिए अपनी जान जोखिम में डाली बल्कि खेलों में हिस्सा लेकर अपना और अपने देश का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखवा भी दिया।

दोस्तों, मुरलीकांत पेटकर के प्रयास और उपलब्धियां हमें ये सीख देते हैं कि हालात भले ही विपरीत क्यों ना हो जाएँ, अगर आप में जज़्बा है तो आपको सफल होने से कोई भी नहीं रोक सकता इसलिए अपने सपनों की उड़ान भरते रहिये और तब तक मत रुकिए जब तक आपको मनचाहा मुकाम मिल ना जाये।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनाथम कौन है?”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Featured Image Source