नरेंद्र मोदी के प्रभावी व्यक्तित्व ने उन्हें ना केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया में लोकप्रियता दिलाई है। आज देश-दुनिया में उनके प्रशंसकों की संख्या बहुत ज़्यादा है और हमारे देश में हर वर्ग के लोग उनसे प्रभावित है। यहाँ तक कि युवाओं में भी वो ख़ासे लोकप्रिय हैं। उनमें छुपे लीडर में नेतृत्व की अद्भुत प्रतिभा है। ऐसे में क्यों ना आज, नरेंद्र मोदी की सफलता के राज को जाना जाए। तो चलिए, आज आपको बताते हैं नरेंद्र मोदी की सफलता के राज़।

Today's Deals on Amazon

प्रभावशाली भाषण की कला – नरेंद्र मोदी के भाषणों से शायद ही कोई मंत्रमुग्ध नहीं होता होगा। देश से जुड़े हर मसले पर जितनी स्पष्टता और प्रभावशीलता से वो अपनी बात जनता के सामने रखते हैं, उसने सभी को अपना मुरीद बना लिया है। भले ही श्रोता वर्ग किसी भी आयु वर्ग से जुड़ा हो, मोदी अपनी प्रभावी वाक् शैली के ज़रिये खुद को बड़ी सरलता के साथ उनसे जोड़ लेते हैं।

नेतृत्व कुशलता – किसी भी उच्च पद पर रहते हुए नेतृत्व का गुण होना बेहद ज़रूरी होता है और ये गुण नरेंद्र मोदी की विशेष पहचान है। अपनी टीम को कुशलता से कार्य करने के लिए प्रेरित करने के लिए वे खुद उदाहरण बनना पसंद करते हैं। एक बार सार्वजनिक भाषण के दौरान उन्होंने ये वादा किया था कि वे अपने अधीनस्थों से एक घंटा ज़्यादा काम करेंगे। इससे बेहतर उदाहरण क्या हो सकता है।

जादुई व्यक्तित्व – नरेंद्र मोदी का व्यक्तित्व इतना मजबूत और जादुई है कि उनकी उम्र उनके उत्साह, जोश और जुनून की राह में रोड़ा नहीं बन पाती और देश के युवाओं के लिए एक आदर्श और मजबूत नेतृत्व वाले नेता के रूप में स्थापित होने में उनके इसी जादुई व्यक्तित्व का हाथ है।

दूरदृष्टि – नरेंद्र मोदी का एक विशेष गुण उनकी दूरदृष्टिता है जिसके चलते उन्होंने भारत की जनता में आर्थिक विकास, भ्रष्टाचार मुक्त सरकार और दुनिया में अपना प्रभाव कायम करने की क्षमता विकसित करने के प्रति विश्वास जगाया और इस दिशा में कई काम भी किये।

निर्णय लेने की क्षमता – नरेंद्र मोदी तुरंत निर्णय लेने के लिए जाने जाते हैं। जहाँ नेताओं द्वारा निर्णय लेने में बहुत लम्बा समय लगा दिया जाता है वहीँ नरेंद्र मोदी वो नेता हैं जो तुरंत निर्णय लेने की क्षमता रखते हैं और उस निर्णय पर तुरंत क्रियान्वयन करना भी बखूबी जानते हैं।

कुशल योजनाकार – बड़ी-बड़ी योजनाएं कुशलता से बनाने का गुण नरेंद्र मोदी की सफलता का एक बहुत अहम राज़ है और इसका उदाहरण उनके चुनाव प्रचार से मिलता है, जिसमें उन्होंने 3.5 लाख किमी. से ज़्यादा की यात्रायें की और इस दौरान 400 रैलियों को संबोधित किया। ऐसे क्षेत्रों में जाकर प्रचार किया जहाँ कोई जाना पसंद नहीं करता। उनकी ऐसी कुशल योजनाओं ने उन्हें बेहतर परिणाम दिलाये।

टेक्नोफ्रेंडली – नरेंद्र मोदी तकनीक के क्षेत्र में हमेशा खुद को अपडेट रखा करते हैं। उन्होंने देश के लोगों को तकनीक को अपनाने और उससे फायदा उठाने के लिए प्रेरित किया है ताकि सभी आसानी से अपने कामों को अंजाम दे सके और देश तकनीक के क्षेत्र में आगे भी बढ़ता रहे।

फिटनेस के प्रति जागरूक – नरेंद्र मोदी के जीवन में योग का विशेष स्थान हैं और नियमित रूप से योग करना उनकी जीवनशैली का अहम अंग है। यही कारण है कि इस उम्र में भी वो इतने फिट और सक्रिय हैं। वे सभी को योग के ज़रिये स्वस्थ रहने के लिए प्रेरित भी किया करते हैं।

धैर्यशील और विनम्र – दुनिया के सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश के प्रधानमंत्री पद पर आसीन रहते हुए नरेंद्र मोदी ने कभी भी विनम्रता का साथ नहीं छोड़ा। उनसे मिलने वाले हर व्यक्ति से, विनम्रता से मिलना उनका ख़ास गुण हैं और वे अपने हर निर्णय से जुड़े परिणामों को लेकर धैर्य बनाये रखते हैं और हर परिस्थिति में संयम से काम लेते हैं।

दोस्तों, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के प्रभावी व्यक्तित्व से आप भी जरूर प्रभावित होंगे और अब आप जान चुके हैं कि उनके व्यक्तित्व में ऐसे कौनसे गुण छिपे हैं जिन्होंने उन्हें सफलता दिलाई। नरेंद्र मोदी की सफलता का राज़ जान लेने के बाद, आप भी इन सभी आदतों और नज़रिये को अगर अपने जीवन में शामिल कर लेंगे तो आपका सफल होना भी तय है।

“पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनाथम कौन है?”