NBFC कंपनियों के शेयर्स में Panic – क्यों?

अक्टूबर 17, 2018

अभी हाल ही में NBFC कंपनियों के शेयर्स में भारी गिरावट देखने को मिली है। कई कंपनी के शेयर्स तो 50% – 70% तक Downहो गये हैं। निवेशकों में Panic है। आओ आज समझने की कोशिश करते हैं ऐसा क्यों हो रहा है और NBFC कंपनियों का क्या भविष्य है?

NBFC कंपनी का सारा खेल या कहें कि Profit, Interest Rate से जुड़ा हुआ है। पिछले कुछ वर्षों से Interest Rate का Down Trend चल रहा था। परन्तु अब इस Trend में बदलाव आने लगा है। अभी पिछले 6 महीनों में Interest Rate – 50 Basic Point से बढ़ गया है। मेरा स्पष्ट मानना है कि Interest Rate का Down Trend अब खत्म हो गया है। Next 6-12 महीनों में Minimum = 50 Basic Points to 100 Basic Points की Interest Rate में तेजी आने की पूरी संभावना है।

जब Interest Rate Down थी तो Competition के चक्कर में NBFC कंपनियों ने Client को Fixed Interest Rate पर बहुत ज्यादा Loan@Finance दे दिया। गिरते हुये Interest Rate की दशा में Fixed Interest Rate पर मुनाफा ज्यादा होता है परन्तु यह मुनाफा ही
Interest Rate बढ़ने की दशा में घाटे में परिवर्तित होने लगता है। अब चूंकि Interest Rate बढ़ने की Cycle शुरू हुई है तो Fixed Interest Rate पर दिये गये Loan पर NBFC कंपनियों को भारी नुकसान उठाना पडेगा।

मेरी राय में NBFC कंपनियों से Short Term में निवेशकों को दूर रहना चाहिये। हाँ Long Term में कोई दिक्कत नहीं है। NIM (Net Interest Margin) कम हो जायेगा। इसके अलावा NBFC कंपनियों में दिक्कत का कारण कुछ कंपनियों का Interest Default होता है। कंपनियों के Interest Default होने से Industry पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

हर सेक्टर की अपनी Cycle होती है। सो वर्तमान समय में NBFC Cycle Down Trend पर शुरू हो गया है।

sodhani-1 NBFC कंपनियों के शेयर्स में Panic - क्यों?ये लेख फाइनेंशियल एडवाइजर श्री राजेश कुमार सोढानी, सोढानी इंवेस्टमेंट्स, जयपुर द्वारा प्रस्तुत है। फाइनेंशियल प्लानिंग पर आधारित ये लेख आपको कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“S.I.P में देरी की लागत”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें