33 वर्षीय निक वुजिसिक जन्म से ही एक बहुत ही दुर्लभ रोग से पीड़ित है जिसकी वजह से उनके जन्म से दोनों हाथ और पैर नहीं है। मगर वो कहते है न की अगर आपके अंदर जज़्बा हो तो आप कुछ भी कर सकते है। कुछ ऐसा ही हुआ निक वुजिसिक के साथ भी इतना कठिनाइयों के बावजूद भी निक वुजिसिक सब वो काम कर लेते है जो एक आम आदमी कर सकता है। वो बिना हाथ पैर के तैर लेते है चित्रकारी कर लेते है, यहाँ तक की वो स्काइ डाइविंग भी कर चुके है।

इतना ही नहीं निक वुजिसक बहुत प्रतिष्ठित और पसंद किये जाने वाले वक्ताओं में से एक है। इन्हें पूरी दुनिया में कई लोग प्रेरणा का स्रोत मानते है और इन्हे फॉलो भी करते है। अपने आप को भावनात्मक और शारीरिक तोर पर संगठित रखना इतना आसान नहीं होता है मगर निक वुजिसक ये सब करने में सफल रहते है।

उन्होंने शादी भी की है और वो एक बच्चे के पिता भी है और अपने परिवार का पूरी तरह से ध्यान रखते है। निक वुजिसिक जज़्बे को हमारा सलाम।

“स्वामी विवेकानंद – एक प्रेरणात्मक जीवन”