अब से नहीं आएगा रेल बजट जानिए क्यों

आजादी के बाद से ही यह परंपरा चली आ रही है कि आम बजट से पहले भारतीय सरकार रेल बजट पेश करती है। लेकिन आपको बता दें कि ऐसा सिर्फ शायद भारत में ही होता है। क्योंकि अन्य देशों में सिर्फ एक ही बजट होता है जिसे आम बजट कहा जाता है।

लेकिन अब भारत में भी पिछले 92 सालों की परंपरा को तोड़ते हुए रेल बजट को बंद कर दिया गया है अब इसकी जगह सिर्फ आम बजट दिया जाएगा।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अभी हाल ही में एक बयान दिया जिसमें उन्होंने कहा कि आने वाले साल से आम बजट मैं ही रेल बजट पेश किया जाएगा।

भारत के कई मंत्रियों का यह मानना है कि विकास के मामले में रेल बजट और आम बजट में कोई अंतर नहीं है क्योंकि रेल बजट भी भारतीय विकास से ही ताल्लुक रखता है तो उसको अलग से पेश करना जरूरी नहीं है।

अब तक आम बजट फरवरी के आखिरी दिन पेश होता है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में इस बात पर सहमति बन गई है कि अब आम बजट में रेल बजट को सम्मिलित कर लिया जाएगा।

यह सब मंत्रालयों को छोटा और सरल बनाने के लिए किया जा रहा है। हम आशा करते हैं कि भारतीय सरकार द्वारा उठाया गया कदम सकारात्मक रहेगा और विकास को एक नई गति मिलेगी।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment