ओडिशा के पर्यटन स्थल

आइये जानते हैं ओडिशा के पर्यटन स्थल के बारे में। ओडिशा बंगाल की खाड़ी से सटा हुआ, भारत के पूर्वी कोने में स्थित राज्य है जिसके पास दो हजार साल पुरानी समृद्ध विरासत है।

इस राज्य की खासियत ये है कि यहाँ आपको प्राचीन स्मारक, मंदिर भी मिलेंगे तो समुद्री तट, झरने और नदियां भी नजर आएगी यानी ओडिशा की सैर करना आपके लिए बहुत रोमांचक होगा।

ऐसे में जागरूक पर आज आपको बताते हैं ओडिशा के पर्यटन स्थल के बारे में, जहाँ आपको जरूर जाना चाहिए ताकि ओडिशा की खूबसूरती और इस राज्य की विरासत को आप करीब से जान सकें। तो चलिए, आपको ले चलते हैं ओडिशा की सैर पर।

ओडिशा के पर्यटन स्थल 1

ओडिशा के पर्यटन स्थल

कोणार्क मंदिर – ओडिशा में प्रसिद्ध कोणार्क मंदिर है जो पर्यटन के गोल्डन ट्रायंगल के तीन बिंदुओं में से एक है। इसके अलावा दो बिंदु भुवनेश्वर मंदिर और पुरी का जगन्नाथ मंदिर है। ये सूर्य मंदिर अपनी बेजोड़ स्थापत्य कला के कारण दुनिया भर से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता आया है। इस मंदिर को ब्लैक पैगोडा भी कहा जाता है।

चिल्का झील – ओडिशा की चिल्का झील पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहती है। ये झील भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है। इस झील के आसपास की प्राकृतिक सुंदरता और सर्दियों में यहाँ आने वाले प्रवासी पक्षी पर्यटकों को रोमांचित कर देते हैं।

भीतरकनिका राष्ट्रीय उद्यान – ओडिशा का भीतरकनिका राष्ट्रीय उद्यान प्रकृति-प्रेमियों के लिए किसी सौगात से कम नहीं है। यहाँ बहुत से पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं को एक साथ देखा जा सकता है। यहाँ मगरमच्छ, अजगर, किंग कोबरा, रेसूस, जंगली सूअर, चित्तेदार हिरण और सांभर जैसे जीव-जंतु देखे जा सकते हैं। यहाँ सफेद मगरमच्छों की दुर्लभ प्रजाति शंखुआ पायी जाती है और ये राष्ट्रीय उद्यान मगरमच्छों का प्रजनन केंद्र भी है।

महेन्द्रगिरि – समुद्र की सतह से 5000 फीट की ऊंचाई पर स्थित ये जगह अपने आसपास हैरान कर देने वाले मनोरम नज़ारों के लिए जानी जाती है। यहाँ स्थित पर्वत शृंखला, हरे-भरे जंगल, महेंद्र तनया नदी और खुशनुमा मौसम आपको आनंद से भर देगा।

खंडगिरि गुफाएं – ओडिशा की खंडगिरि गुफाएं अपने समृद्ध धार्मिक इतिहास की गवाह रही हैं। भुवनेश्वर से केवल 6 किमी. की दूरी पर स्थित इन 15 गुफाओं में जैन विद्वान और तपस्वी रहा करते थे। पहाड़ों की चट्टानें काटकर इन गुफाओं की दीवारें बनाई गयी हैं जिन पर सुन्दर चित्र अंकित हैं। जैन धर्म के साहित्य के कुछ अंश भी इन दीवारों पर देखने को मिलते हैं।

उदयगिरि गुफाएं – ओडिशा में स्थित उदयगिरि की गुफाएं चट्टानों को काटकर बनायी गयी हैं। ये 18 गुफाएं प्राचीन धार्मिक विरासत को बयां करती हैं। इन गुफाओं का निर्माण जैन तपस्वियों और विद्वानों के रहने के लिए किया गया था। यहाँ की दीवारों को इंसानों और जानवरों की खूबसूरत पेंटिंग्स से सजाया गया है और कुछ दीवारों पर जैन धर्म के पवित्र ग्रंथों के साहित्य भी अंकित किये गए हैं।

ओडिशा में नंदनकानन, सिमलीपाल राष्ट्रीय उद्यान, हीराकुंड बांध, दुदुमा जलप्रपात, उषाकोठी वन्यजीव अभयारण्य जैसे पर्यटन स्थल भी मौजूद हैं। ऐसे में अगर आप धार्मिक, ऐतिहासिक और मनोरम स्थल की सैर करने का इरादा रखते हैं तो आपको ओडिशा का रुख करना चाहिए क्योंकि ये राज्य एक बेहतरीन टूरिस्ट प्लेस साबित होगा।

उम्मीद है ओडिशा के पर्यटन स्थल कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमन्द भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल