ऑनलाइन सामान कैसे बेचे?

जनवरी 26, 2018

इस ऑनलाइन रहने वाली दुनिया के बीच अगर आप अपने प्रोडक्ट को ज़्यादा से ज़्यादा बेचना चाहते हैं तो इसके लिए इस ऑनलाइन दुनिया के बीच में जाना और इसका हिस्सा बनना ज़रूरी है। हो सकता है कि ऑनलाइन सामान बेचने का विचार आपको भी किसी नयी मुश्किल जैसा लगता हो लेकिन आप ये तो जानते ही हैं कि समय के साथ चला जाए तो तरक्की जल्दी मिलने लगती है। कुछ ऐसा ही ऑनलाइन सामान बेचने को लेकर भी कहा जा सकता है। आपकी दुकान पर जहाँ हर दिन कुछ चुनिंदा ग्राहक ही पहुँचते हैं वहां ऑनलाइन सामान बेचने की स्थिति में कितने ही लोग हर मिनट आपके प्रोडक्ट को देखते हैं। ऐसे में ये तो आप समझ ही गए होंगे कि ऑनलाइन सामान बेचने का तरीका नया और आसान होने के साथ-साथ फायदेमन्द भी है। अपनी सर्विस या प्रोडक्ट को डिटेल में डिस्प्ले करने का बेहतरीन माध्यम है ऑनलाइन व्यापार करना। तो चलिए, अब आपको बताते हैं कि ऑनलाइन सामान बेचने के लिए आपको क्या-क्या स्टेप्स पूरे करने की जरुरत होगी-

बिजनेस को ऑनलाइन शुरू करने के दो तरीके होते हैं – वेबसाइट बनवाकर या पहले से मौजूद किसी ई-कॉमर्स पोर्टल पर सामान बेचकर। खुद की वेबसाइट बनवाकर, उस पर सामान बेचना काफी महंगा काम होता है और इसके लिए तकनीकी कुशलता की भी जरुरत होती है। ऐसे में शुरुआती स्तर पर किसी बड़ी ई-कॉमर्स साइट पर वेंडर बनकर सामान बेचना ज़्यादा सही विकल्प होगा। ऐसे में अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए पॉपुलर वेबसाइट्स जैसे स्नैपडील, फ्लिपकार्ट, अमेजन, ईबे और लाइमरोड से जुड़ा जा सकता है।

रजिस्टर करने का तरीका – किसी ई-कॉमर्स साइट के ज़रिये बिजनेस बढ़ाने के लिए, उस साइट पर जाकर खुद को वेंडर के तौर पर रजिस्टर करना होता है। इसके लिए ऑनलाइन एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म की जरुरत पड़ती है। हर नामी ई-कॉमर्स साइट पर रजिस्ट्रेशन का तरीका लगभग एक जैसा ही होता है।

उदाहरण के तौर पर हम फ्लिपकार्ट पर सेलर अकाउंट बनाने का तरीका जानते हैं-

एक बार प्रोडक्ट की लिस्टिंग होने के बाद आप फोन पर भी सलाह ले सकते हैं। फ्लिपकार्ट अपनी लॉजिस्टिक सर्विस के ज़रिये सामान पिक करवाती है जिसे पैक करके देने की जिम्मेदारी सेलर की होती है।

प्रोडक्ट डिलीवर होने के 10-15 दिनों में आपको अपने सामान की कीमत बैंक अकाउंट के ज़रिये मिल जाएगी। इसके लिए आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर भी देना होगा। बेहतर यही होगा कि आप अपनी कंपनी के नाम पर बैंक अकाउंट खुलवाएं क्योंकि इंडिविजुअल अकाउंट में मनी ट्रांसफर पर कई तरह की पाबंदियां होती हैं।

आपके सामान की वसूली गयी कीमत में से फ्लिपकार्ट एक फिक्स अमाउंट अपने पास कमीशन के तौर पर रखेगा जिसमें प्लेटफॉर्म पर बेचने का कमीशन फिक्स्ड चार्ज, सर्विस टैक्स और उपलब्ध करवाई गई लॉजिस्टिक सर्विस और पैकिंग का खर्च शामिल होता है।

ऑनलाइन सामान बेचने से जुड़ी जानकारी तो अब आपको मिल गयी है लेकिन अभी कुछ और बातों को जान लेना ज़रूरी है जैसे कि-

एक सुपरहिट सेलर बनने के लिए ये करें-

दोस्तों, ये थी ऑनलाइन सामान बेचने से जुड़ी जानकारी, जिसका इस्तेमाल करके आप भी अपने सामान को ऑनलाइन बेचना शुरू कर सकते हैं और अपने बिजनेस को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचा सकते हैं। इसके लिए एक बात का ध्यान ज़रूर रखें कि सामान बेचने का ये तरीका शुरू करने से पहले इससे जुड़ी सभी ज़रूरी प्रक्रियाएं पूरी कर लें ताकि आपको कुछ भी हड़बड़ी में ना करना पड़े। उम्मीद है ऑनलाइन बिजनेस से जुड़ी ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए काफी फायदेमन्द भी साबित होगी।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं तो ये तरीके अपनाएं”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें