संस्कृत भाषा में पक्षियों के नाम

आइये जानते हैं कुछ मुख्य पक्षियों को संस्कृत भाषा में किस नाम से बुलाया जाता है। संस्कृत भाषा एक अमरभाषा कही जाती है जिसका उपयोग प्राचीन काल से होता आ रहा है।

कई बड़े ग्रन्थ भी संस्कृत में ही लिखित हैं। आपको बता दें की अंग्रेजी के कई शब्द भी संस्कृत से ही लिए गए हैं। लेकिन आज के समय में संस्कृत भाषा का उपयोग काफी कम हो गया है जो की एक दुखद बात है।

संस्कृत भाषा में पक्षियों के नाम 1

संस्कृत भाषा में पक्षियों के नाम

उल्लू – उल्लू को संस्कृत में उलूकः, कौशिक: कहा जाता है।

कबूतर – संस्कृत में कबूतर का नाम है कपोतः, पारावक:

कौआ – कौआ को संस्कृत भाषा में काकः, वायस: कहा जाता है।

मुर्गा – मुर्गा को संस्कृत में कुक्कटः नाम से जाना जाता है।

मुर्गी – मुर्गी को संस्कृत में कुक्कुटी नाम से जाना जाता है।

कोयल – कोयल को संस्कृत में कोकिल: / पिकः कहा जाता है।

गिद्ध – संस्कृत में गिद्ध का नाम गृधः है।

गौरेया – गौरेया को संस्कृत में चटक: नाम से जाना जाता है।

चमगादड़ – चमगादड़ का संस्कृत में नाम होता है जतुका

भौरा – भौरा को संस्कृत भाषा में भ्रमरः कहा जाता है।

मोर – मोर को संस्कृत में मयूरः नाम से जाना जाता है।

बगुला – संस्कृत में वगुला का नाम है वकः

बतख – बतख को संस्कृत भाषा में वर्तिका: / वर्तकः कहा जाता है।

तोता – तोता को संस्कृत में शुकः / कीरः नाम से जाना जाता है।

बाज – बाज को संस्कृत में श्येनः कहा जाता है।

मैना – संस्कृत में मैना का नाम है सारिका:

सारस – सारस को संस्कृत में सारसः कहा जाता है।

हंस – हंस को संस्कृत में हंसः / मरालः नाम से जाना जाता है।

पपीहा – पपीहा को संस्कृत में चातकः कहा जाता है।

कठफोड़वा – कठफोड़वा को संस्कृत में दार्वाघाटः कहा जाता है।

गरुड़ – गरुड़ को संस्कृत में गरुड़: कहा जाता है।

चील – चील को संस्कृत में श्येन: कहा जाता है।

चकवा – चकवा को संस्कृत में चक्रवाक: कहा जाता है।

तीतर – तीतर को संस्कृत में तित्तिर: कहा जाता है।

जलमुर्गी – जलमुर्गी को संस्कृत में जलकुक्कुटी कहा जाता है।

पतंगा – पतंगा को संस्कृत में शलभ: कहा जाता है।

नीलकंठ – नीलकंठ को संस्कृत में नीलकंठ:, चाष: कहा जाता है।

बुलबुल – बुलबुल को संस्कृत में कलापी कहा जाता है।

बटेर – बटेर को संस्कृत में वर्तक: कहा जाता है।

शुतुरमुर्ग – शुतुरमुर्ग को संस्कृत में उष्ट्रपक्षी कहा जाता है।

उम्मीद है जागरूक पर संस्कृत भाषा में पक्षियों के नाम कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल