संस्कृत भाषा में पक्षियों के नाम

मार्च 1, 2018

संस्कृत भाषा एक अमरभाषा कही जाती है जिसका उपयोग प्राचीन काल से होता आ रहा है। कई बड़े ग्रन्थ भी संस्कृत में ही लिखित हैं। आपको बता दें की अंग्रेजी के कई शब्द भी संस्कृत से ही लिए गए हैं। लेकिन आज के समय में संस्कृत भाषा का उपयोग काफी कम हो गया है जो की एक दुखद बात है। तो आइये आज आपको संस्कृत भाषा का थोड़ा और ज्ञान देते हैं और जानते हैं कुछ मुख्य पक्षियों को संस्कृत भाषा में किस नाम से बुलाया जाता है।

उल्लू – उल्लू को संस्कृत में उलूकः कहा जाता है।

कबूतर – संस्कृत में कबूतर का नाम है कपोतः ।

कौआ – कौआ को संस्कृत भाषा में काकः कहा जाता है।

मुर्गा – मुर्गा को संस्कृत में कुक्कटः नाम से जाना जाता है।

कोयल – कोयल को संस्कृत में कोकिला / पिकः कहा जाता है।

गिद्ध – संस्कृत में गिद्ध का नाम गृधः है।

गौरेया – गौरेया को संस्कृत में चटकाः नाम से जाना जाता है।

चमगादड़ – चमगादड़ का संस्कृत में नाम होता है जतुका।

भौरा – भौरा को संस्कृत भाषा में भ्रमरः कहा जाता है।

मोर – मोर को संस्कृत में मयूरः नाम से जाना जाता है।

वगुला – संस्कृत में वगुला का नाम है वकः ।

बतख – बतख को संस्कृत भाषा में वर्तिका / वर्तकः कहा जाता है।

तोता – तोता को संस्कृत में शुकः / कीरः नाम से जाना जाता है।

बाज – बाज को संस्कृत में श्येनः कहा जाता है।

मैना – संस्कृत में मैना का नाम है सरिकाः ।

सारस – सारस को संस्कृत में सारसः कहा जाता है।

हंस – हंस को संस्कृत में हंसः / मरालः नाम से जाना जाता है।

पपीहा – पपीहा को संस्कृत में चातकः कहा जाता है।

“संस्कृत भाषा के कुछ महत्वपूर्ण और रोचक तथ्य”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें