प्रथम विश्व युद्ध से जुड़े कुछ रोचक और अनसुने तथ्य

845

सबसे प्रथम विश्व युद्ध वर्ष 1914 से 1919 के बीच लड़ा गया था जिसमे यूरोप, एशिया और अफ्रीका महाद्वीप मुख्य थे। प्रथम विश्व युद्ध में कई बड़े देश शामिल थे जिसमे भारी मात्रा में जान माल की हानि हुई थी। प्रथम विश्व युद्ध करीब 52 महीने तक चला जो उस समय के लोगों के लिए एक बुरा अनुभव रहा। इस विश्वयुद्ध का असर ये हुआ की लगभग आधी दुनिया हिंसा की चपेट में आ गई और आंकड़ों के मुताबिक इस विश्वयुद्ध में करीब 1 करोड़ लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा जबकि इससे दुगनी संख्या में लोग घायल हुए।

विश्व युद्ध का असर सिर्फ यहाँ तक सीमित नहीं रहा बल्कि इससे कई बड़ी बीमारियां और कुपोषण जैसी घटनाएं घटी जिससे लाखों लोग मारे गए। हालाँकि प्रथम विश्व युद्ध के समाप्त होते होते अमेरिका एक ‘सुपर पावर’ के रूप में उभरा लेकिन वहीँ दूसरी ओर साम्राज्य रूस, जर्मनी, ऑस्ट्रिया-हंगरी और उस्मानिया का वजूद खत्म हो गया और यूरोप की सीमाएं फिर से निर्धारित की गई। आइये आपको भी बताते हैं प्रथम विश्व युद्ध से जुड़े कुछ ऐसे ही रोचक और अनसुने तथ्यों के बारे में।

1. पहले विश्वयुद्ध की शुरुआत 28 जुलाई 1914 ई. में हुई जो करीब 4 साल तक चला।

2. पहले विश्वयुद्ध में 37 देश शामिल हुए थे।

3. पहले विश्व युद्ध का मुख्य कारण था ऑस्ट्रिया के राजकुमार फर्डिंनेंड की हत्या जिसकी हत्या बोस्निया की राजधानी सेराजेवो में की गई थी।

4. पहले विश्व युद्ध के दौरान पूरी दुनिया के दो खेमे बंट गए एक मित्र राष्ट्र और दूसरा धुरी राष्ट्र।

5. धुरी राष्ट्रों का नेतृत्व करने वाले देशों में जर्मनी, ऑस्ट्रिया, हंगरी और इटली जैसे देश शामिल थे जबकि मित्र राष्ट्रों का नेतृत्व करने वाले देशों में इंगलैंड, जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस और फ्रांस ने मुख्य भूमिका निभाई।

6. प्रथम विश्व युद्ध के दौरान 1 अगस्त 1914 को जर्मनी ने रूस पर हमला बोला था।

7. जर्मनी ने फ्रांस पर 3 अगस्त 1914 को आक्रामत किया।

8. प्रथम विश्व युद्ध में इंग्लैंड 8 अगस्त 1914 को शामिल हुआ था।

9. मित्र राष्ट्र की ओर से प्रथम विश्व युद्ध में इटली 26 अप्रैल 1915 को शामिल हुआ।

10. प्रथम विश्व युद्ध के दौरान वुडरो विल्सन अमेरिका के राष्ट्रपति पद पर विराजमान थे।

11. जर्मनी ने यू बोट के जरिये इंगलैंड लूसीतानिया नामक जहाज डुबोया था जिसमे 1153 लोग मारे गए थे जिनमे 128 व्यक्ति अमेरिकी थे इसी की बोखलाहट से अमेरिका भी पहले विश्व युद्ध में कूद पड़ा।

12. प्रथम विश्व युद्ध 11 नवंबर 1918 में समाप्त हुआ था।

13. प्रथम विश्व युद्ध के बाद 18 जून 1919 को पेरिस शांति सम्मेलन आयोजिक किया गया था जिसमे 27 देशों ने हिस्सा लिया था।

14. पहले विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी ने भारी तबाही मचाई और इसी के चलते जर्मनी से हर्जाने के तौर पर 6 अरब 50 करोड़ की राशि की मांग की गई थी।

15. अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र में राष्ट्रसंघ की स्थापना होना पहले विश्व युद्ध का सबसे बड़ा योगदान था।

“दुनिया के 10 सबसे क्रूर तानाशाह, जिन्होंने मचा दिया था कत्लेआम”
“पहले विश्व युद्ध की सबसे चर्चित जासूस माता हारी के जीवन का सच”
“युद्ध पर बनी यह भारतीय फ़िल्में आपको जरूर देख लेनी चाहिए”
“देखिये जापान ने कैसे करी हैवानियत की हदें पार”

Add a comment