आइये जानते हैं पेनिसिलिन की खोज किसने की थी। पेनिसिलिन की खोज एक महत्वपूर्ण खोज मानी जाती है जिसने एंटीबायोटिक खोज के एक नए और आधुनिक युग की शुरुआत की थी क्योंकि पेनिसिलिन एंटीबायोटिक का एक समूह है जिसकी उत्पत्ति पेनिसिलियम फंगी से हुयी है।

इसका नाम आपने जरूर सुना होगा। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इस एंटीबायोटिक की खोज कब और किसने की थी। अगर नहीं, तो चलिए आज आपको बताते हैं पेनिसिलिन की खोज का दिलचस्प किस्सा।

पेनिसिलिन की खोज किसने की थी? 1

पेनिसिलिन की खोज किसने की थी?

पेनिसिलिन की खोज स्कॉटिश रिसर्चर अलेक्जेंडर फ्लेमिंग ने 1928 में की थी, जब वो लंदन के एक हॉस्पिटल की लेबोरेटरी में इन्फ्लुएंजा वायरस पर एक्सपेरिमेंट कर रहे थे लेकिन उनकी ये खोज सुनियोजित होने की बजाये अचानक हुयी घटना जैसी थी।

असल में अलेक्जेंडर फ्लेमिंग भले ही एक बेहतरीन रिसर्चर रहे लेकिन लैब टेक्निशियन के तौर पर वो बहुत लापरवाह थे। अपने एक्सपेरिमेंट्स करने के बाद वो अक्सर अपना सामान भूल जाया करते थे।

एक बार जब फ्लेमिंग लम्बी छुट्टी के बाद लौटे तो उन्होंने देखा कि जिस पदार्थ पर वो अपना एक्सपेरिमेंट कर रहे थे, उसमें तो फंगस लग चुकी है यानी वो ख़राब हो चुका है इसलिए फ्लेमिंग उस पदार्थ से भरी प्लेटों को एक-एक करके फेंकने लगे।

तभी अचानक उन्हें एक ऐसी प्लेट मिली जिसमें फंगस नहीं लगा था। ये देखकर फ्लेमिंग हैरान हो गए और उन्होंने उस प्लेट के पदार्थ को बारीकी से देखा। तब उन्होंने उस प्लेट में पेनिसिलिन पाया जो दूसरे बैक्टीरिया को बढ़ने नहीं देता है। उस दिलचस्प घटना के बाद अलेक्जेंडर फ्लेमिंग ने उसका नाम पेनिसिलिन रखा।

फ्लेमिंग ने अपनी इस खोज के बारे में 1929 में ब्रिटिश जर्नल ऑफ एक्सपेरिमेंटल पैथोलॉजी में पब्लिश किया लेकिन उस समय उनकी इस खोज को विशेष महत्व नहीं मिल सका क्योंकि उस समय पेनिसिलिन को बड़े स्तर पर बनाना संभव नहीं था।

एक दवा के रुप में इस्तेमाल होने के लिए पेनिसिलिन का विकास ऑस्ट्रेलियाई नोबल पुरस्कार विजेता हॉवर्ड वॉल्टर फ्लोरे और जर्मन नोबल पुरस्कार विजेता अर्नेस्ट चेन ने किया।

उम्मीद है जागरूक पर पेनिसिलिन की खोज किसने की थी कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल