पीएचडी क्या है?

आइये जानते हैं पीएचडी क्या है। हम सभी अपने लिए एक पसंदीदा करियर चुनते हैं और अगर आपका सपना लेक्चरर बनने का है ताकि आप यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में प्रोफेसर या लेक्चरर बन सके तो आपको पीएचडी के बारे में जानकारी जरूर लेनी चाहिए ताकि आपका लक्ष्य स्पष्ट हो सके और सही समय पर उसे भेद सके।

तो चलिए, आज आपके सपने को दिशा देते हुए बात करते हैं पीएचडी क्या है।

पीएचडी क्या है? 1

पीएचडी क्या है?

Ph.D. का मतलब होता है- डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (Doctor of Philosophy), जिसे शॉर्ट में पीएचडी कहा जाता है। इस कोर्स को पूरा कर लेने के बाद आपके नाम के आगे डॉ. (Dr.) शब्द जुड़ जाता है क्योंकि पीएचडी करने के बाद ये डिग्री हासिल करने वाला व्यक्ति उस सब्जेक्ट का एक्सपर्ट बन जाता है और उसे सम्बंधित सब्जेक्ट की पूरी जानकारी हासिल हो चुकी होती है।

ये डिग्री प्राप्त करने के बाद कॉलेज में प्रोफेसर बनने की राह भी खुल जाती है और सम्बंधित विषय में रिसर्च और एनालिसिस करने के अधिकार भी मिल जाते हैं।

आइये, अब आपको बताते हैं कि पीएचडी करने के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए। किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री, किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम 55% के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करनी होती है।

उसके बाद UGC के NET exam को क्लियर करना होगा। उसके बाद आप पीएचडी के 3 साल के कोर्स में एडमिशन ले सकेंगे और इस कोर्स को पूरा करने का अधिकतम समय 6 साल होता है।

पीएचडी कोर्स में लगने वाली फीस हर कॉलेज-यूनिवर्सिटी के अनुसार अलग-अलग निर्धारित की जाती है।

उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और पीएचडी करने के लिए आप स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई मन लगाकर करेंगे ताकि अच्छे मार्क्स और क्लियर कॉन्सेप्ट्स आपको पीएचडी करने में मदद कर सके और आप असल में अपने सब्जेक्ट के एक्सपर्ट यानी डॉक्टर बन सके।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल