पुरुषों में कैंसर के 10 शुरुआती लक्षण

मई 21, 2017

कई बार कैंसर होने पर भी हम इसके शुरुआती लक्षणों को पहचान नहीं पाते और फिर आगे चलकर ये गंभीर रूप ले लेता है जो जानलेवा बन जाता है। लेकिन अगर कैंसर के समय इन शुरूआती लक्षणों को पहचान लिया जाये तो इसे जानलेवा रूप लेने से पहले ही रोका जा सकता है। आइये आपको बताते हैं पुरुषों में कैंसर के 10 शुरुआती लक्षण के बारे में जो पहले ही संकेत दे देते हैं।

1. आंत में समस्‍या – कई बार हम आँतों में होने वाली छोटी मोटी समस्या को नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन ये कैंसर के संकेत भी हो सकते हैं। आंतों में होने वाली समस्या कोलेन या कोलोरेक्‍टल कैंसर का शुरुआती लक्षण हो सकता है। इसके दूसरे लक्षणों में डायरिया, अपच, पेट में गैस, पेट दर्द जैसी तकलीफ होने लगती है।

2. मलाशय में खून – अगर मलाशय में खून आने की समस्या हो तो इसे नजरअंदाज करना बेहद घातक हो सकता है क्योंकि ये कोलेन कैंसर का शुरूआती लक्षण होता है। साधारणतः तो ये 50 की उम्र के बाद होता है लेकिन आज की बिगड़ी लाइफस्टाइल और खान पान की वजह से ये कम कम उम्र में भी हो सकता है इसलिए इसे नजरअंदाज ना करें।

3. मूत्र त्यागने में तकलीफ – अगर मूत्र त्यागने में दर्द हो या मूत्र के साथ खून आने लगे तो ये प्रोस्टेट कैंसर या डिम्बग्रंथि कैंसर के शुरूआती संकेत हो सकते हैं। अगर ऐसी समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से जाँच कराएं।

4. टेस्टिकल्स (अंडकोष) में बदलाव – अगर आपके अंडकोष का आकार बढ़ता हुआ महसूस हो तो इसे बिलकुल नजरअंदाज ना करें क्योंकि ये टेस्टिकुलर कैंसर का लक्षण हो सकता है। वैसे आपको बता दें की टेस्टिकुलर कैंसर होने की सम्भावना 20 से 40 वर्ष की उम्र में ज्यादा होती है।

5. पीठ में दर्द – यूँ तो जिन लोगों की घंटों तक कुर्सी पर बैठे रहने की जॉब होती है उन्हें अक्सर पीठ दर्द की शिकायत रहती है लेकिन अगर ये लगातार होने लगे तो ये कोलोरेक्‍टल या प्रोस्‍टेट कैंसर के संकेत हो सकते हैं। इस तरह के कैंसर में कमर के आसपास की मांसपेशियों में दर्द उठता है।

6. वजन कम होना – अगर आपका दैनिक आहार सही है और फिर भी आपका वजन बेवजह कम होने लगे तो आपको सचेत होने की आवश्यकता है क्योंकि ये कैंसर का शुरूआती संकेत हो सकता है। अगर पर्याप्त आहार लेने के बावजूद वजन 10 पौंड से ज्यादा कम हो जाये तो डॉक्टर से सलाह लें और जाँच कराएं।

7. लगातार खांसी रहना – यूँ तो सर्दी, बुखार या धूम्रपान करने वाले लोगों को खांसी की समस्या बनी रहती है लेकिन बेवजह निरंतर खांसी की समस्या रहने लगे और खांसी के साथ खून आने की शिकायत हो तो ये लंग कैंसर का शुरुआती संकेत हो सकता है इसे नजरअंदाज ना करें।

8. बेवजह थकान रहना – थकान को हम एक साधारण समस्या समझ कर नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन ये कैंसर का संकेत भी हो सकता है। अगर आप ज्यादा भागदौड़ किये बिना अक्सर थकान महसूस करते हैं तो आपको सचेत होने की आवश्यकता है क्योंकि ये कैंसर का शुरूआती संकेत हो सकता है जिसमे अक्सर थकान महसूस होती है और कई बार तो हाथ पैर भी काम करने लायक नहीं रहते।

9. अक्सर बुखार होना – यूँ तो बुखार होना एक आम बात है लेकिन अगर अक्सर बुखार रहने लगे तो ये ब्लड कैंसर, ल्यूकीमिया के शुरूआती लक्षण हो सकते हैं। इस कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है और ऐसे में हमारा शरीर बीमारियों से लड़ने में असहाय हो जाता है।

10. त्वचा में परिवर्तन – त्वचा में असामान्य रूप से परिवर्तन होने लगे जैसे बेवजह त्वचा में सांवलापन, त्वचा का पीला या काला पड़ना, इसको नजरअंदाज ना करें क्योंकि ये कैंसर के शुरूआती लक्षण हो सकते हैं।

“कैंसर से दूर रहने के लिए करें ये 10 काम”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें