रात में पेड़ के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए?

आइये जानते हैं रात में पेड़ के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए। अगर आप प्रकृति प्रेमी हैं तो आपको हरियाली पसंद होगी और हरे-भरे पेड़ आपके दिल को ख़ुशी से भर देते होंगे।

हो सकता है कि पेड़ के नीचे बैठना या सोना भी आप पसंद करते हों लेकिन क्या आप जानते हैं कि दिन में पेड़ के नीचे सोने से कोई मना नहीं करता, फिर रात में पेड़ के नीचे ना सोने ही हिदायत क्यों दी जाती है?

रात में पेड़ के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए? 1

अगर आप इस बारे में नहीं जानते हैं तो ये जान लेना आपके लिए बहुत जरुरी है इसलिए जागरूक पर आज इसी बारे में बात करते हैं।

रात में पेड़ के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए?

पेड़ों में श्वसन के लिए कोई विशेष अंग नहीं होते हैं। पेड़ों में श्वसन पत्तियों में मौजूद छिद्रों से होता है। इन छिद्रों को स्टोमेटा कहा जाता है। इसके अलावा पेड़ के तने पर भी कुछ छिद्र होते हैं जिनसे श्वसन क्रिया होती है।

पेड़ की जड़ें सतह से सांस लेती हैं यानी पूरे पेड़ में श्वसन क्रिया लगातार चलती रहती है जिसमें पेड़-पौधे ऑक्सीजन का उपयोग करके कार्बन डाई ऑक्साइड बनाते हैं।

ये तो आप भी जानते हैं कि दिन के समय पेड़-पौधे प्रकाश संश्लेषण की क्रिया द्वारा अपने लिए खाना बनाते हैं। इसके लिए पौधे सूर्य के प्रकाश में, कार्बन डाई ऑक्साइड और पानी का इस्तेमाल करके ग्लूकोज और ऑक्सीजन बनाते हैं।

पेड़ों में श्वसन क्रिया लगातार चलती रहती है लेकिन सुबह के समय सांस लेने से जो कार्बन डाई ऑक्साइड बनती है वो पत्तियों के अंदर ही जमा हो जाती है जिसका इस्तेमाल प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में किया जाता है।

इस क्रिया में सारी कार्बन डाई ऑक्साइड खत्म हो जाती है और ऑक्सीजन ही बाहर निकलती है। ऐसे में दिन के समय पेड़ों के नीचे सोने से ऑक्सीजन मिलती है।

रात में ऐसा नहीं होता है। रात में श्वसन क्रिया तो पेड़-पौधों में चलती रहती है लेकिन प्रकाश संश्लेषण की क्रिया नहीं होती है। ऐसे में रात के समय ऑक्सीजन का निर्माण नहीं होता है।

इस दौरान श्वसन क्रिया में ऑक्सीजन खर्च होती है और कार्बन डाई ऑक्साइड बनती है और पेड़ कार्बन डाई ऑक्साइड बाहर छोड़ते हैं।

ऐसे में अगर रात के समय पेड़ों के नीचे सोया जाए तो कार्बन डाई ऑक्साइड मिलने की वजह से दम घुटने लगेगा और हो सकता है कि मौत भी हो जाये इसलिए रात के समय पेड़ों के नीचे नहीं सोना चाहिए।

उम्मीद है रात में पेड़ के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?”

जागरूक यूट्यूब चैनल