रिलायंस जिओ की सफलता का राज

रिलायंस जिओ की सफलता को देखकर सभी हैरान हैं और इसने कितनी सफलता हासिल की है ये आप भी बखूबी जानते हैं। टीम जिओ ने 170 दिन में ही 100 मिलियन ग्राहक जोड़ने का टारगेट पूरा किया और हर दिन जिओ से प्रति सेकंड 7 ग्राहक जुड़े। जिओ के लॉन्च से पहले ये माना गया था कि VoLTE दुनिया में असफल टेक्नोलॉजी है लेकिन इस सोच को भी जिओ ने ग़लत साबित कर दिया।

जिओ यूजर्स हर दिन 250 करोड़ मिनट कॉल करते हैं। इतना ही नहीं, मुकेश अम्बानी के इस जिओ लॉन्च ने टेलीकॉम इंडस्ट्री में तहलका ला दिया क्योंकि इसके लॉन्च के 6 महीने बाद ही भारत में डेटा का इस्तेमाल हर महीने 20 करोड़ GB से बढ़कर, एक महीने में 120 करोड़ GB हो गया और इसके चलते भारत ने डेटा उपभोग में चीन और अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया।

मार्च में जब जियो ने फ्री सब्सक्राइबर्स की बड़ी संख्या को पेड सब्सक्राइबर्स में बदल दिया तो आलोचक भी हैरान रह गए और खुद मुकेश अम्बानी के अनुसार – आज 100 मिलियन से भी ज़्यादा ग्राहक पेड हैं और काफी लोग 309 रुपये वाले प्लान का इस्तेमाल कर रहे हैं।

रिलायंस जिओ की सफलता के पीछे मुकेश अम्बानी की एकदम नयी और अलग सोच है। उन्होंने वॉइस कॉलिंग के कॉम्पिटिशन का हिस्सा बनने की बजाये डेटा इंटरनेट के फ्यूचर पर गौर किया और भीड़ में शामिल होने की बजाए, यूजर्स की डेटा से जुड़ी जरुरत पर फोकस किया। नई टेक्नोलॉजी और इंटरनेट की फास्ट स्पीड देकर जिओ ने बहुत आसानी से लोगों को खुद से जोड़ लिया।

इस तरह मुकेश अम्बानी के रिलायंस जिओ की सफलता के पीछे उनके ये ऐतिहासिक कदम रहे हैं –

1. नयी और भीड़ से अलग सोच
2. मार्केट की जरुरत का बारीकी से अवलोकन
3. मार्केट के कॉम्पिटिशन को समझना
4. डेटा के फ्यूचर को समय से पहले देख पाना
5. यूजर्स की जरुरत के अनुसार डेटा प्लान बनाना
6. लोगों की पहुँच तक इंटरनेट को पहुँचाना ताकि लोग अपनेआप जुड़ते चले जाएँ

इस तरह मुकेश अम्बानी और टीम जिओ की कड़ी मेहनत, मार्केट पर बारीक नज़र और यूजर्स तक पहुँचने के सही तरीके ने रिलायंस जिओ को ये सफल मुकाम दिलाया है और इसकी सफलता का आलम ये है कि आज ऐसे लोग बहुत ही कम होंगे जो जिओ से जुड़े हुए ना हो। इससे बड़ी सफलता क्या हो सकती है।

ऐसे में आप भी सफल होने के लिए, नए रास्तों की ओर कदम बढ़ाइए, शुरू में चलना मुश्किल लग सकता है लेकिन अगर रास्ते का चुनाव सही होगा और समय की मांग को ध्यान में रखते हुए कदम बढ़ाया जाएगा तो आपको भी रिलायंस जिओ जैसी सफलता मिल सकती है इसलिए सोच-समझकर, सही दिशा में कदम बढ़ाने से झिझकिए मत क्योंकि सफल होना तो हम सबका अधिकार है, बशर्तें इसके लिए हमारे प्रयास पूरे हों।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“मुकेश अंबानी की सफलता का राज”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Featured Image Source

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment