आइये जानते हैं सांप जीभ बाहर क्यों निकालते है। सांप का नाम सुनते ही बहुत से लोग डर जाते हैं तो बहुत से लोग सांप से जुड़े किस्से कहानियों को सुनने में इतनी दिलचस्पी रखते हैं कि साँपों को कहानियों के केंद्र में रखकर बहुत-सी मनोरंजक कहानियां लिखी जाती हैं।

जिन्हें सीरियल्स और फिल्मों के जरिये हम तक पहुंचाया जाता है जिसे हम बहुत पसंद भी करते हैं। ऐसे में काल्पनिक दुनिया के साँपों में दिलचस्पी रखने के साथ आपको असली सांप से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी भी लेनी चाहिए।

तो चलिए, आज आपको बताते हैं सांप जीभ बाहर क्यों निकालते है और साँपों से जुड़ी कुछ रोचक बातें।

सांप जीभ बाहर क्यों निकालते है? 1

दुनिया में साँपों की लगभग 2500-3000 प्रजातियां पायी जाती हैं। विषैले और विषहीन दोनों तरह के सांप पाए जाते हैं।

सांप की आँखों में पलकें नहीं होती हैं इसलिए ये हमेशा खुली रहती हैं।

सांप की कुछ प्रजातियां 10 सेंटीमीटर की होती है जबकि अजगर जैसे सांप की लम्बाई 25 फीट तक होती है।

सांप मेंढ़क, छिपकली, पक्षी, चूहे और दूसरे साँपों को तो अपना शिकार बनाता ही है, कभी-कभी सांप बड़े जानवरों को भी निगल जाता है।

सांप एक शीतरक्ती प्राणी है यानी इसके शरीर का तापमान वातावरण के ताप के अनुसार घटता-बढ़ता रहता है।

खाते समय सांप भोजन को चबाकर खाने की बजाये उसे पूरा निगल जाता है।

ऐसा माना जाता है कि सांप उड़ते भी है लेकिन ये सिर्फ कल्पना है क्योंकि सांप उड़ते नहीं है बल्कि किसी ऊँचे पेड़ से किसी दूसरे पेड़ पर कूदते हैं।

सांप जीभ बाहर क्यों निकालते है?

सांप अपनी जीभ से सूंघते हैं और अपने आसपास के वातावरण का पता लगाने के लिए अपनी जीभ बाहर निकालते हैं ताकि आसपास मौजूद शिकार की गंध ले सके। ऐसा करने में जैकबसन ऑर्गन सांप की मदद करता है जो उसके मुँह में पाया जाता है।

दोस्तों, आप जान गए होंगे कि साँपों पर जितने किस्से कहानियां बनते हैं, असली सांप के किस्से भी उतने ही रोचक होते हैं।

उम्मीद है जागरूक पर कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल