सफ़र में उल्टी की समस्या से बचने के असरकारक घरेलू नुस्खे

मोशन सिकनेस यानी सफ़र के समय होने वाली उल्टी का असर हर एक व्यक्ति पर अलग अलग होता है। किसी व्यक्ति को पसीना अधिक आने लगता है तो किसी को बैचेनी सी महसूस होने लगती है। किसी को सिर में दर्द होता है या फिर किसी की साँस फूलने लगती है। कभी कभी तो आदमी के मुँह से लार भी गिरने लगती है। रिसर्च के मुताबिक़ हमारी आँखे, हमारी त्वचा और हमारे कान हमारे दिमाग को सिग्नल देते हैं जिससे दिमाग शरीर की दिशा में चलना शुरू करता है लेकिन इन अंगो द्वारा दिए गये अलग अलग निर्देशों के कारण हमारा दिमाग कन्फ्यूज हो जाता है और हमें घबराहट और उल्टी की समस्या होने लगती है। अगर आप सफ़र करते समय मोबाइल पर गेम खेलते हैं या अपने मोबाइल में कोई चीज पढ़ते हैं या कोई किताब पढ़ते हैं तो इस वजह से भी आपको उल्टी की समस्या या मिचली जैसी दिक्कत होती है। कभी कभी तो गाड़ियों के डीजल या पेट्रोल से आने वाली बदबू से भी आपका उल्टी जैसा मन हो जाता है।

अक्सर यह समस्या बच्चों और महिलाओं में अधिक देखने को मिलती है। यह समस्या सिर्फ बस या कार में ही सफ़र करने से नहीं बल्कि कई लोग जब झूला झूलते हैं या हवाई यात्रा करते हैं तब भी उन्हें यह दिक्कत होने लगती है। आइये इस लेख में हम आपको बताएँगे कि कैसे आप सफ़र के दौरान होने वाली उल्टी की समस्या को रोक सकते हैं।

गाड़ी में पीछे ना बैठें – अगर आपको सफ़र के समय उल्टी की समस्या है तो आप बस या कार में कभी भी पीछे वाली सीट पर ना बैठें क्योंकि पीछे बैठने पर भी आपको उल्टी हो सकती है।

खाली पेट सफ़र ना करें – कई तरह के अध्ययनों से पता चलता है कि अगर आप खाली पेट सफ़र करते हैं तो आपको उल्टी और जी मचलाना जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। इसलिए आप कोशिश करें कि जब आप सफ़र पर निकलें तो कुछ ना कुछ जरूर खा लें और ऑयली चीजें तो बिल्कुल भी ना खाएं।

लौंग का इस्तेमाल करें – सफर के दौरान जब आपको लगने लगे कि आपका मन खराब होने लगा है और आपको उल्टी हो सकती है तो आपको तुंरत ही अपने मुंह में लौंग लेकर चूसना चाहिए। इस तरह से आप उल्टी को रोक सकते हैं।

सफ़र में हमेशा सीधा देखें – गाडी में सफ़र के दौरान हर कोई खिडकी वाली सीट पर बैठना चाहता है लेकिन जिनको सफ़र में उल्टी की समस्या है वो वहाँ ना बैठे क्योंकि खिडकी से बाहर की तरफ देखने से भी उल्टी हो सकती है। इसलिए आप इधर उधर ज्यादा ना देखें और कोशिश करें कि सीधा ही देखें। मोबाइल या न्यूज़ पेपर का भी इस्तेमाल ना करें क्योंकि इससे भी आपको घबराहट हो सकती है।

नींबू का इस्तेमाल करें – अगर आपको सफ़र करते समय उल्टी या मिचली आने की दिक्कत है तो सफ़र के दौरान आप अपने पास नींबू जरूर रखें और उसके रस को अपने मुंह में लें क्योंकि इसमें सिट्रिक एसिड होता है जो उल्टी आने पर आराम देता है।

अदरक का सेवन करें – अदरक बहुत ही अच्छा एंटी-इमेटिक एजेंट होता है जो उल्टी की समस्या या चक्कर आने जैसी समस्या को दूर करता है इसलिए अगर आपको उल्टी की समस्या है तो सफ़र के दौरान साथ में अदरक जरुर रखें और थोडा थोडा उसे खायें।

हम उम्मीद करते हैं कि अगली बार जब आप सफ़र में हों तो उल्टी की समस्या से बचने के लिए इन तरीकों को अपनाएं और अपने अनुभव हमसे साझा करें। हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

“ये हैं भारत की सबसे कठिन धार्मिक यात्राएं”
“अकेले यात्रा पर जाने से पहले इन बातों का रखें ख़याल”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment