सफेद और झड़ते बालों से निजात पाने के योग

बालों का झड़ना और समय से पहले सफेद होना आजकल हर उम्र के लोगों की समस्या बन गया है। यहाँ तक कि युवाओं में भी सफेद और झड़ते बालों की ये समस्या बढ़ती जा रही है और ऐसा होने के कारणों के बारे में आप भी बखूबी जानते हैं और सफेद और झड़ते बालों की इस समस्या के पीछे खानपान की ग़लत आदतें, प्रदूषण और तनाव जैसे कई ऐसे कारण मौजूद हैं जो इस लाइफस्टाइल की देन है। लेकिन ये भी सच है कि हर कोई अपने बालों को इस स्थिति में देखना पसंद नहीं करता।

ऐसे में अगर आप भी अपने बालों की खोयी मजबूती और खूबसूरती को वापिस पाना चाहते हैं तो इसमें योग आपकी मदद कर सकता है क्योंकि कुछ विशेष योग करके बालों की हर समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। तो चलिए, आज जानते हैं सफेद और झड़ते बालों को फिर से स्वस्थ बनाने के लिए कुछ विशेष योगासन-

योग और ध्यान के ज़रिये ना केवल बालों की समस्याओं से निजात मिल सकता है बल्कि बहुत से शारीरिक विकार भी दूर हो सकते हैं और मानसिक तनाव, भूख ना लगना और चिंता से भी मुक्ति मिल सकती है।

जिन आसनों में आगे की ओर झुका जाता है उन आसनों को करने से सिर में रक्त का संचार बढ़ता है जिससे बालों की जड़ों को पोषण मिलता है। आइए ऐसे कुछ विशेष आसनों के बारे में जानें –

सर्वांगासन – इस आसन को करने से रक्त की शुद्धि होती है और पाचन क्रिया भी बेहतर होने लगती है जिसका प्रभाव बालों की सेहत पर पड़ता है और बाल झड़ने की बजाये मजबूत होने लगते हैं।

अधोमुख शवासन – इस मुद्रा में श्वान की तरह झुकने से सिर में रक्त का संचार होता है और इस आसन को करने से साइनस और जुकाम में भी फायदा मिलता है। साथ ही मस्तिष्क की थकान दूर होने से अवसाद और अनिद्रा से भी मुक्ति मिलती है।

उत्थान आसन – इस आसन में खड़े होकर आगे झुकने से बालों की सेहत बेहतर होती है, साथ ही थकान और कमजोरी भी दूर होती है। डाइजेशन को सही रखने के अलावा ये आसन रजोनिवृत्ति में भी काफी राहत दिलाता है।

पवनमुक्तासन – इस आसन को करने से बालों के साथ-साथ कमर के नीचे की मांसपेशियां भी मजबूत होती है। इसके अलावा पाचन शक्ति बेहतर होती है, साथ ही पेट और हिप्स की चर्बी भी दूर होती है और गैस की समस्या भी कम होने लगती है।

वज्रासन – खाना खाने के बाद कुछ देर वज्रासन में बैठने से पाचन सम्बन्धी परेशानियां दूर होने लगती हैं जिससे बालों का झड़ना भी कम होने लगता है क्योंकि कई बार पेट से जुड़ी समस्याएं भी बालों के कमज़ोर होकर टूटने का कारण बनती हैं। इसके अलावा इस आसन को करने से वजन कम होता है और सूजन से भी छुटकारा मिल जाता है।

कपालभांति – इस प्राणायाम को करने से मस्तिष्क को ऑक्सीजन ज़्यादा मिलने लगती है और तंत्रिका तंत्र को भी फायदा पहुँचता है। साथ ही शरीर से विषैले तत्वों के बाहर निकलने के कारण बालों की सेहत भी बेहतर होती जाती है।

भस्त्रिका प्राणायाम – ये प्राणायाम शरीर में मौजूद अतिरिक्त वायु को बाहर निकालकर पित्त और कफ का नाश करता है। साथ ही शरीर और तंत्रिका तंत्र की शुद्धि करता है। ऐसे में स्वस्थ शरीर में बालों की अच्छी सेहत होना तो स्वाभाविक ही है।

शीर्षासन – शीर्षासन बालों के लिए बेहतरीन आसन है जिसे करने से मस्तिष्क में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है जिससे दिमाग एक्टिव हो जाता है। तनाव और चिंता दूर हो जाती है और बाल काले और मजबूत होने लगते हैं और उनका झड़ना रुक जाता है।

बालों को झड़ने और असमय सफेद होने से रोकने और मजबूत बनाने का हुनर अब आपके पास है। ऐसे में सफेद और झड़ते बालों को देखकर निराश होने की बजाये, अभी से योग के इन विशेष आसनों का अभ्यास शुरू कर दीजिये ताकि बहुत जल्द आप अपने बालों की सेहत को बेहतर बना सकें।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“गर्दन दर्द सताए तो करें ये योग”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment