सेब का सिरका क्या है?

सितम्बर 9, 2018

सेब का सिरका जिसे एप्पल सिडर विनेगर के नाम से भी जाना जाता है। भोजन में इसका प्रयोग प्राचीन समय से ही पाश्चात्य, यूरोपीय एवं एशियायी देशों में होता आया है। मार्केट में सिरका के बहुत से प्रकार उपलब्ध है जैसे अंगूर का सिरका, मदिरा सिरका, जामुन का सिरका, कृतिम सिरका आदि। लेकिन आज हम जानेंगे सेब का सिरका क्या है और इसे लेने की विधि क्या है।

सेब का सिरका क्या होता है – आयुर्वेद में सेब के सिरके का उल्लेख औषधि के रूप में किया गया है। अन्य ग्रंथो में भी इसका उल्लेख किया गया है। सिरके को बनाने में शर्करा ही इसका मुख्य आधार है जो सेब में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। सेब के दल को निचोड़ने के बाद जो रस निकलता है उसे अच्छे से उबाला जाता है। उबालने के बाद जो रस बचता है उसे एप्पल सिडर या सेब का सिरका कहते है। बाजार में यह ऑर्गेनिक और पैश्चराइज्ड दोनों रूप में प्राप्त है। अपनी गुणवत्ता के कारण इसके मूल्य पर भी अंतर पड़ता है। रंग में भूरा, गंध तीखी और स्वाद में खट्टापन इसके एसिटिक एसिड का गुण होता है। इसका प्रयोग टेबलेट और लिक्विड दानों दोनों रूप में होता है। अपने एसिटिक गुण के कारण यह आहारनली की अच्छे से सफाई कर देता है जिससे भोजन को पचाने में मदद मिलती है।

सेब के सिरके में कई पोषक तत्व होते है जैसे वीटामिन ए,सी और ई, पोटेशियम, कार्बोहाईड्रेट, कैल्शियम, आइरन, सोडियम, मैग्निशियम, फॉस्फोरस, कैलोरी, एंटी-ऑक्सिडेंट, एंज़ाइम और अमीनो एसिड आदि। सेब के सिरके की बढ़ती लोकप्रियता के कारण यह बाजार में कई फ्लेवर में मिलने लगा है जैसे शहद, नींबू, अदरक वाले स्वाद में सेब का सिरका।

सेब के सिरके का कैसे करे इस्तेमाल – इसका इस्तेमाल कई तरीकों से किया जाता है जिससे भोजन को स्वादिष्ट, सेहत को रोगमुक्त और त्वचा को सुंदर बनाया जा सके। आइए जाने सेब के सिरके का इस्तेमाल कैसे करे।

एप्पल सिडर के बारे में कुछ भी राय बनाने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह जरूर ले। हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“एंटीबायोटिक क्या होती हैं?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें