सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले ध्यान रखने वाली बातें

जनवरी 18, 2018

हर साल मार्केट में आने वाले कारों के नए-नए मॉडल्स ने नयी कारों को बहुत जल्द पुराना बनाना शुरू कर दिया है। ऐसे में नयी कारों के शौकीन लोग, कुछ सालों के बाद अपनी कार को बेचकर नए मॉडल वाली कार खरीदने लगे हैं जिसकी वजह से सेकेंड हैंड कारों का मार्केट भी काफी बढ़ गया है और इस मार्केट में आपको सेकेंड हैंड कारों के ढ़ेरों ऑप्शंस भी मिलने लगे हैं। अगर आपका बजट कम है या आप अभी कार चलाना सीख रहे हैं तो सेकेंड हैंड कार खरीदना आपके लिए बेहतर ऑप्शन है लेकिन यही ऑप्शन बुरे अनुभव भी दे सकता है, अगर कार खरीदते समय कुछ ज़रूरी जानकारियां नहीं ली जाए।

ऐसे में आपके लिए कुछ ऐसी ज़रूरी बातें जानना बेहतर होगा जिनका ध्यान रखकर ली गयी सेकेंड हैंड कार आपको परेशानी देने की बजाए आराम की सवारी बन जाएगी। तो चलिए, आज आपको बताते हैं सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले ध्यान रखने वाली बातें –

रिसर्च करना ज़रूरी है – सेकेंड हैंड कार खरीदने का विचार आने के बाद, आप अपना बजट और कार का मॉडल सलेक्ट कर लीजिये। इसके बाद इस मॉडल से जुड़ी ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी इकट्ठा करें। इसके लिए आप वेबसाइट, मैगज़ीन और न्यूज़पेपर की मदद ले सकते हैं और यूजर्स रिव्यू देखकर भी आपको काफी मदद मिल जाएगी। इसके अलावा उस मॉडल की मार्केट प्राइस का भी पता कर लें और कार के एक और मॉडल का ऑप्शन साथ लेकर जाएँ।

second-hand-car सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले ध्यान रखने वाली बातें

इंश्योरेंस से जुड़ी जानकारी लें – कार को खरीदने का निर्णय लेने से पहले ये जान लेना भी ज़रूरी है कि जो कार आप लेना चाह रहे हैं, उसका इंश्योरेंस है या नहीं। इसके अलावा ये भी जानें कि प्रीमियम सही समय पर भरा गया है या नहीं। इसके साथ-साथ रोड टैक्स के पेपर्स चेक कर लें और ओरिजिनल इनवॉइस की मांग भी करें। इंश्योरेंस पेपर्स आपके नाम ट्रांसफर हो सके, इस बात पर गौर करना भी ज़रूरी है।

कार की बॉडी सही हो – कार किस कंडीशन में है इसका पता कार के अंदर की बॉडी से चलता है क्योंकि अगर कार की कंडीशन अच्छी है तो कार के नीचे की बॉडी जंगरहित होगी, इसलिए कार की बॉडी की अच्छी से जांच कर लेने के बाद ही कार लेने का इरादा बनायें।

आपराधिक रिकॉर्ड से जुड़ी जानकारी लें – जिस कार को खरीदने का मानस आप बना रहे हैं, उससे जुड़ी ये जानकारी लेना भी बहुत ज़रूरी है कि ये कार चोरी की तो नहीं हैं या किसी आपराधिक कार्य में इस्तेमाल तो नहीं हुयी है। इसके अलावा ये भी जानें कि कार कितनी बार एक्सीडेंट का शिकार हुयी है।

कार के पार्ट्स को अच्छे से परख लें – एकबार कार खरीद लेने के बाद बार-बार आने वाली मुश्किलों से बचना चाहते हैं तो कार खरीदने के समय ही कार की हेडलाइट, स्टेयरिंग जैसी चीज़ों की जांच कर लें और इंजन की जाँच करने के अलावा बोनट के नीचे लिखी कार की मैन्युफैक्चर डेट भी ज़रूर देखें और इसका मिलान RCTC पर लिखी डेट से भी करें।

second-hand-car2 सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले ध्यान रखने वाली बातें

कार के सभी पहलुओं पर गौर करें – हर व्यक्ति का अपना चुनाव होता है। कोई कार के माइलेज पर ज़्यादा ध्यान देता है तो कोई कार की कैपेसिटी या उसके इंटीरियर पर। लेकिन अगर एक बेहतर कार चाहते हैं तो कार से जुड़े इन सभी पहलुओं पर गौर करें और कार को चलाकर देखने से भी ना चूकें।

नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकिट लेना ना भूलें – सेकेंड हैंड कार खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि जिस व्यक्ति से आप कार खरीद रहे हैं, उस व्यक्ति ने अगर बैंक से लोन लेकर कार खरीदी थी तो आप उस व्यक्ति से ‘नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट’ ज़रूर लें और इससे सम्बंधित फॉर्म की एक कॉपी भी अपने पास रखें।

तो दोस्तों, इन छोटी-छोटी लेकिन ज़रूरी बातों का ध्यान रखकर आप अपनी सेकेंड हैंड कार का भी भरपूर आनंद उठा सकेंगे और आपकी ये कार आपका लम्बे समय तक साथ भी दे सकेगी इसलिए सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले इन बातों पर ज़रूर गौर करें और फिर कार से जुड़ी सुविधाओं का मज़ा लेने के लिए तैयार हो जाएँ।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“नई कार खरीदने से पहले ध्यान रखे ये बातें”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें