ब्लेड हमेशा इस आकार की क्यों होती है ?

फरवरी 27, 2017

हम सभी ने अपने जीवन में ब्लेड का इस्तेमाल तो किया होगा और शेविंग के दौरान या हेयर कटिंग के दौरान इसका इस्तेमाल एक आम बात है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि ब्लेड के बीच में बनाया गया आकार किस काम आता है और हमेशा ब्लड इसी डिजाइन की क्यों बनती है? नहीं ना तो चलिए आज हम आपको इस बारे में बताते हैं।

इस बात को पूर्ण रुप से समझने के लिए आपको इतिहास में जाना पड़ेगा यह बात 1904 की है जब Gillette कंपनी ने पहला ब्लेड लॉन्च किया था एक दोधारी ब्लेड था जिसमें काफी पैनापन था। इस ब्लड को आप रेजर में बोल्ट के सहारे फिक्स कर सकते थे। यह काफी लचीला था इसलिए इसके ऊपर एक और सेक्शन दिया गया था जिसकी वजह से आप इसे आसानी से कास सकते थे।

उस समय यह पेटेंट सिर्फ Gillette के पास ही था और वही इस डिजाइन के प्लेट बना सकता था। 25 साल बाद जब यह पेटेंट एक्सपायर हुआ तो कई कंपनियों ने इस प्रकार के ब्लेड बनाने शुरू कर दिए। लेकिन रेजर उस समय भी जिलेट कंपनी का ही आता था इसी वजह से सारी कंपनियों ने Gillette के डिजाइन का ही ब्लेड बनाना शुरु किया धीरे-धीरे यह एक ट्रेंड बन गया।

हालांकि इस बात को खत्म करने के लिए Gillette ने अपने रेज़र में कई बदलाव किए लेकिन कंपनी ने भी उस हिसाब से ब्लड में बदलाव कर दिए। इस अजीब तरीके के डिजाइन के पीछे एक कारण यह भी था कि जो ब्लड बनाया गया था वह 0.20 mm का था और इतना पतला होने की वजह से अगर इसे बीच में से इस आकार का डिजाइन ना दिया जाता तो यह हल्का सा भी इस्तेमाल करने पर टूट सकता था इसको फ्लेक्सिबिलिटी प्रदान करने के लिए इस प्रकार के डिजाइन का निर्माण किया गया।

“दिमाग से जुड़े कुछ अजब गजब रोचक तथ्य”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें