वजन कम करने कुछ आसान उपाय

वर्तमान जीवनशैली को देखते हुए आजकल लोग कई गंभीर बीमारियों से ग्रस्त है जिसमें मोटापा एक ऐसी गंभीर समस्या है जिससे अधिकांश लोग पीड़ित है। मोटापे का असर सिर्फ पेट या कमर पर ही नही पड़ता बल्कि धीरे-धीरे इसकी चपेट में शरीर के बाकी अंग भी आ जाते है। जब शरीर पर चर्बी अधिक बढ़ने लगे तो समझो आप में मोटापे का लक्षण दिखना शुरू हो गया। तेज़ी से बदलती जीवनशैली में गलत तरह का खान-पान और रहन-सहन आदि वजहों से पेट बाहर निकल आता है और कमर की चर्बी अधिक हो जाती है। धीरे-धीरे समय और उम्र के साथ शरीर पूरी तरह से चर्बी युक्त हो जाता है जिस कारण इंसान को चलने-फिरने में भी काफी दिक्कतें आती है साथ ही कई गंभीर बीमारीयों के शिकार होने का खतरा भी अधिक हो जाता है। मोटापा कम करना एक बहुत बड़ा चैलेंज है खासतौर पर तब, जब शरीर का वजन असंतुलित हो जायें। ऐसी हालत में वजन कम करने के थका देने वाले शेड्यूल से भी कोई फायदा नहीं होता है। हर कोई स्‍लीम फिट होने के लिए शॉर्टकट लेना चाहता है, चाहें उसका कोई फायदा ही ना हो।

कई बार लोग नासमझी में डाइट के नाम पर भूखे रहते हैं, जिसका परिणाम सेहत के साथ खिलवाड़ होता है। भूखे रहने से शरीर को सिर्फ नुकसान ही होता है। आज के भागदौड़ वाले जीवन में वजन कम करने के लिए समय निकालना मुश्‍किल काम है। लेकिन इस बात को सदैव याद रखे मोटापा धीरे-धीरे ही कम होता है। वजन कम करने के लिए शांति से काम लेना चाहिए।

अपनी खान-पान की आदतों में बदलाव और सुधार ही वजन कम करने का स्‍थायी व सही तरीका है अगर वजन घटाना है तो बार-बार खाने की आदत पर लगाम लगायें। जैसे-जैसे मोटापा बढने लगता है शरीर में बीमारियों की दस्तक भी शुरू हो जाती है जैसे डायबी‍टीज, ब्लडप्रेशर, हार्ट अटैक, ब्रेन स्टोन, कैंसर, अनिद्रा, जोडों और घुटनों में दर्द आदि समस्या शरीर पर हावी होना शुरू कर देती है। मोटापा कम करने के लिए या मोटापा अत्यधिक ना बढ़े उसके लिए हमें अपने डाइट प्लान को ध्यान में रखना चाहिए। टाइम पर खाना व डाइट संतुलित मात्रा में हो, इसका ध्यान रखे। डाइट में कैल्सियम, प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइडेट की प्रचुर मात्रा सामिल हो।

हर व्यक्ति को प्रतिदिन 2500 प्रति कैलोरी डाइट लेनी चाहिए तभी हमारा शरीर स्वस्‍थ्‍य और छरहरा रहेगा। अपने डाइट चार्ट से अनहेल्‍दी फूड हटाकर कुछ ऐसी चीजें बढा़एं, जो स्वादिष्ट न हो लेकिन पोषक हो। भोजन में सलाद, हरी और पत्तेदार सब्जियों का अधिक प्रयोग करें। साफ और स्वच्छ पानी ज्यादा से ज्यादा पियें।

आइये आपको बताते है मोटापा यानी शरीर की अत्तिरिक्त चर्बी को कम कैसे करें। इसका इलाज हर हाल में संभव है बस कुछ नियम और संयम का पालन करें।

1. भोजन में गेहूं के आटे की रोटी बन्द करके जौ-चने के आटे की रोटी लेना शुरू करें, इससे सारे शरीर का मोटापा कम हो जाएगा।

2. प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में 2 चम्मच शहद व नींबू का रस मिलाकर पीने से भी कुछ दिनों में मोटापा कम होने लगता है। पतले होने के चक्कर में दूध और शुद्ध घी का सेवन बन्द न करें वरना शरीर में कमजोरी, रूखापन, वातविकार, जोड़ों में दर्द, गैस ट्रबल आदि होने की शिकायतें पैदा होने लगेंगी।

3. सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसके सेवन के 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाना चाहिए।

4. एक गिलास गर्म पानी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी तो कम होती है साथ में गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन), एमोबाइसिस और पेट के कीड़े भी नष्ट होते है।

5. 100-150 ग्राम मूली के रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2-3 बार पीने से मोटापा कम होता है। मूली के चूर्ण को शहद में मिलाकर सेवन करने से भी मोटापा कुछ ही महीनों में दूर हो जाता है।

6. मिश्री, मोटी हरी सौंफ और सुखा साबुत धनिया बराबर मात्रा में पीसकर रख लें। इस मिश्रण को एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।

7. पुदीना में मोटापा विरोधी तत्व पाये जाते है। एक चम्मच पुदीना के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेने से मोटापा कम होता जाता है।

8. नियमित सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस दो-तीन महीने पीते रहने से शरीर की अतिरिक्त वसा में कमी आती है।

9. बारीक कटी हुई अदरक और एक नींबू को भी कई टुकड़ों में काट लें। अब दोनों को पानी में उबालें, इस पानी को सुहाता गरम पिएं। यह बहुत ही कारगर और बढिया उपाय है।

10. कम केलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें। कम केलोरी का भोजन मोटापा निवारण के लिए अनिवार्य है। भोजन में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनमें नगण्य केलोरी हो जैसे कि – नींबू, अमरुद, अंगूर, सेव, खरबूजा, जामुन, पपीता, आम, संतरा, पाइनेपल, टमाटर, तरबूज, बैर, स्ट्राबेरी, पत्ता गोभी, फ़ूल गोभी, ब्रोकोली, प्याज, मेथी, मूली, पालक, शलजम, सौंफ़, लहसुन, भूने चने, मूंग दाल, दलिया, अंकुरित अनाज, छिलके वाली दाल, सलाद, दही आदि। आलू, चावल, नमक और चीनी का सेवन कम करें। ग्रीन टी दिन में 2-3 बार पिएं। अधिक वसा युक्त भोजन से परहेज करें। तली व गली चीजें इस्तेमाल करने से चर्बी बढती है। वनस्पति घी शरीर के लिए हानिकारक है।

11. एक शोध के अनुसार काली या हरी मिर्च खाने से मोटापे को आसानी से घटाया जा सकता है। मिर्च खाने से शरीर की उर्जा जल्दी खर्च होती है जिससे वजन नियंत्रित हो जाता है।

12. मोटापे से मुक्ति का एक और बड़ा सरल उपाय यह है कि भोजन के तुरंत बाद पानी का सेवन न करें। भोजन करने के लगभग 1 घंटे के बाद ही पानी पिएं। इससे शरीर की चर्बी के साथ कमर और पेट का मोटापा भी नहीं बढ़ता है।

13. तुलसी के कोमल और ताजे पत्ते को पीसकर दही के साथ बच्चों को सेवन कराने से अधिक चर्बी बनना कम होता है।

14. अजवायन, सेंधानमक, जीरा और कालीमिर्च सभी को 20 ग्राम की समान मात्रा में ले और कूटकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को प्रतिदिन सुबह खाली पेट छाछ के साथ पीने से शरीर की अधिक चर्बी नष्ट होती है।

15. करेले के रस में 1 नींबू का रस मिलाकर सुबह पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके अलावा चावल का गर्म-गर्म मांड लगातार कुछ दिनों तक सेवन करने से भी मोटापा दूर होता है।

सुबह उठकर शौच से निवृत्त होने के बाद कुछ आसनों का अभ्यास करें। अगर आप व्यायाम नही कर सकते तो प्रातःकाल 2-3 किलोमीटर तक घूमने के लिए जायें। भुजंगासन, शलभासन, उत्तानपादासन, सर्वागासऩ, हलासन, सूर्य नमस्कार आदि आसनों के अलावा आप साइकलिंग, जॉगिंग, सीढी़ चढ़ना-उतरना, रस्सी कूदना, टहलना, घूमना इस प्रकार के व्यायाम को भी नियमित रूप से कर के अपने वजन को घटा सकते है। सूखे मेवे, अलसी के बीज, ओलिव आईल में उच्चकोटि की वसा होती है, इनका संतुलित उपयोग उपकारी है। शराब, सिगरेट, तनाव, फास्ड फुड, कोल्ड ड्रिंक, मांसाहारी भोजन आदि का सेवन बंद करने की आज से ही पहल करें। रेशे युक्त भोजन को खाने में शामिल करें। फलों और सब्जियों को छिलकों सहित खायें क्योंकि छिलकों में कई गुण होते है। चलते-फिरते खाने की आदत को छोड़ें। जो भी खायें भूख लगने पर ही खायें। चर्बी को कम करने का सबसे पहला नियम जो आयुर्वेद में है वह यह है भूख से कम ही भोजन का सेवन करें। भूख से कम खाना खाने से चर्बी नहीं बढ़ती और पाचन भी ठीक रहता है। कम भोजन करने से पेट में गैस नहीं बनती है।

मोटापा कम करना कठिन नहीं है बस आपको अपने खान-पान में थोड़ा बदलाव लाना होगा जिससे आप फिट हो जाओगे। अगर एक बार मोटापा बढ़ता है तो यह आसानी से घटता नहीं है जिस वजह से उम्र अधिक लगने के साथ-साथ अनेक बीमारीयां भी शरीर पर हावी हो जाती है। आपको अपनी जीवन-शैली में एक छोटे से परिवर्तन की जरूरत है। इस परिवर्तन से आपकी चर्बी कम होगी साथ ही आपको मोटापे से मुक्ति भी मिल जाएगी। आप उपरोक्त उपायों की सहायता से अपने मोटापे और वजन को कम कर सकते है।

मोटापे का कारण जानने के लिए अपने डॉक्टर को ज़रूर दिखायें क्योंकि आपका मोटापा किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है। डॉक्टर की सलाह के बाद अपने शरीर की क्षमता के आधार पर व्यायाम, आसन या ख़ान-पान में बदलाव लायें। हमारा उद्देश्य आपका सामान्य ज्ञान बढ़ाना है। मोटापे से मुक्ति के लिए आप अपने चिकित्सक से परामर्श ज़रूर करे।

“सफ़ेद बालों को प्राकृतिक रूप से काला बनाना है तो करें ये आसान उपाय”
“उतारना चाहते हैं आँखों का चश्मा तो करें ये आसान उपाय”
“गर्मी और लू से बचने के आसान घरेलू उपाय”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment