भारत के राजाओं के बारें में कुछ ऐसे तथ्य जो आप नहीं जानते होंगे

भारत के राजाओं महाराजाओं की शान किसी से छुपी हुई नहीं है मगर फिर भी इतिहास में कई ऐसी बातें दफ़न है जिन्हें आज हम आपके सामने लाने जा रहे है। भारत के राजाओं के बारें में इन तथ्यों को जान कर आप इन राजाओं की शान का अंदाज़ा लगा पाएंगे की सिर्फ बातों में ही नहीं असल ज़िंदगी में भी इनकी शानोशौकत की बात ही कुछ और थी।

1. भारत में स्थित कूचबिहार की महारानी इंदिरा देवी को जूतों का बहुत शौक था इसी वजह से उन्होंने इटली के मशहूर डिज़ाइनर ल्वातोरे फेर्रागामो से करीब 100 जोड़ी जूते डिज़ाइन कराये जिनमें से कुछ में तो हीरे जवाहरात तक जेड हुए थे।

2. जयपुर के महाराजा सवाई माधो सिंह द्वितीय ने अपने कारीगरों की इंग्लैंड यात्रा से पूर्व बड़े-बड़े चांदी के बर्तन बनाने को कहा था जिसका मुख्य उदेश्य अपने साथ गंगा जल ले जाना था। यह बर्तन आज भी जयपुर के सिटी पैलेस में रखे है।

3. एक बार अलवर के राजा जय सिंह की लंदन में रोलसरोयस के कर्मचारियों ने बेइजत्ती कर दी थी जिस के बाद उन्होंने अलवर में रोलसरोयस कार से कचरा उठाने का काम लेने के आदेश दिए थे।

4. हैदराबाद के निज़ाम अपनी दौलत को लेकर हमेशा से असुरक्षित महसूस करते थे जिस वजह से उन्होंने अपनी सारी दौलत एक ट्रक में छिपा दी जिसमें बाद में दीमक लग गयी थी।

5. आप यह जान के हैरान रह जायेंगे की हैदराबाद के आखरी निज़ाम विश्व के सबसे महंगे हीरे ‘जेकब’ का इस्तेमाल पेपर वेट के रूप में किया करते थे। उस हीरे का आकर शतुरमुर्ग के अंडे के बराबर था और उस समय उसकी कीमत करीब 50 लाख थी।

6. यह कहा जाता है की जूनागढ़ के नवाब के पास 100 कुत्ते थे जिसमें हर कुत्ते की देखभाल के लिए एक व्यक्ति रख हुआ था। इन कुत्तों की शादी भी कराई जाती थी जिसमें करोड़ों रूपये खर्च किये जाते थे।

“ऐसे देश जिनके पास आज भी नहीं है खुद की सेना”
“दिमाग से जुड़े कुछ अजब गजब रोचक तथ्य”
“क्यों चढ़ाया जाता है सूर्य को जल ? जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment