एनएसजी कमांडो के बारे में ऐसे तथ्य जो आप नहीं जानते होंगे

1984 में ब्लूस्टार ऑपरेशन के दौरान गठित एनएसजी कमांडो एक अती विशिष्ट सेना टुकड़ी है जो मिनिस्ट्री ऑफ़ होमअफेयर्स के अंतर्गत आती है। इस टुकड़ी का मुख्य कार्य देश और राज्यों में फैली आतंकवादी गतिविधी को खत्म करना है। एनएसजी कमांडो भारत की सबसे उत्तम कमांडोज़ यूनिट है। विश्व की प्रमुख 5 कमांडोज़ यूनिट में इसकी गिनती होती है। चलिए आपको एनएसजी कमांडो के बारे में कुछ ऐसे तथ्य बताते है जो शायद आप नहीं जानते होंगे।

1. NSG कमांडो की उत्पत्ती जर्मनी की कमांडो यूनिट GSG 9 के आधार पर की गयी है। जर्मनी ने भी इस यूनिट को आतंकवाद से लड़ने के लिए ही बनाया है और यह कारगर भी सिद्ध हुआ है।

2. NSG कमांडो को दो विभागों में विभाजित किया गया है Special Action Group (SAG) और Special Rangers Group (SRG)

3. एनएसजी कमांडो को ब्लैक कैट कमांडोज़ भी कहा जाता है।

4. इस कमांडो ट्रेनिंग का सेलेक्टिव कार्यकाल 90 दिनों का होता है उसके बाद जो भी लोग उस कार्यकाल को पास कर लेते है उन्हें 9 महीने की अत्यधिक कठिन ट्रेनिंग दी जाती है।

5. इस ट्रेनिंग के दौरान कई ऐसे रिक्रूट होते है जो इसके अत्यधिक कठिन होने के कारन इसे बीच में ही छोड़ देते है।

6. एनएसजी कमांडो को इस प्रकार से ट्रेनिंग दी जाती है जिससे वो एक बार में दो लोगों को गोली मार सकते है।

7. इस कमांडो ट्रेनिंग को इतना कठिन बनाया गया है की इसमें मानव को दर्द की अंतिम सीमा से गुजरना पड़ता है।

8. आप यह जान के हैरान हो जायेंगे की एनएसजी कमांडो कभी भी बुलेटप्रूफ जैकेट का इस्तेमाल नहीं करते है।

9. एक आर्मी का जवान जितनी बन्दूक चलाने की तयारी पूरे जीवन में करता है उतना एक एनएसजी कमांडो हफ्ते में ही कर लेता है।

10. एक एनएसजी कमांडो का निशाना 85% टारगेट पर ही लगता है।

11. इन कमांडोज़ को इजराइल ट्रेनिंग के लिए भी भेजा जाता है।

“शरीर से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य जो आपको हैरान कर देंगे”
“भगवान कृष्ण से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य जो हर कोई नहीं जानता”
“भारत के राजाओं के बारें में कुछ ऐसे तथ्य जो आप नहीं जानते होंगे”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।