भगत सिंह से जुडी कुछ दिलचस्प बातें जो हर कोई नहीं जानता

28 सितंबर वो दिन जब इस देश में जन्म लिया एक ऐसे देशभक्त ने जिसने अंग्रेजों की नाक में दम कर दिया भारतीयों को देशभक्ति की एक अलग परिभाषा समझाई। देश को अंग्रेजों से आजादी दिलाने के लिए मात्र 23 वर्ष की उम्र में अपने देश और देशवासियों के लिए अपनी जिंदगी न्योछावर कर दी, इनकी कुर्बानी को कभी नहीं भुलाया जा सकता। आइये इसी मौके पर आपको शहीद भगत सिंह से जुडी कुछ ऐसी दिलचस्प बाते बताते हैं जिन्हें शायद आपने आज तक नहीं पढ़ा होगा।

शहीद भगत सिंह के अनुसार मौत ही उनकी ‘महबूबा’ और आजादी उनकी ‘दुल्‍हन’ थी और शादी की बात पर वो यही कहते थे की उनकी दुल्हन सिर्फ उनकी शहादत होगी।

भगत सिंह की एक और दिलचस्प बात ये है की जब उन्हें फांसी दी जा रही थी तब खाने में उन्होंने रसगुल्‍ले खाने की इच्छा जताई थी।

भगत सिंह जब जेल में थे तब उनके पुत्र, पिता और परिवार को भावुक होता देख भगत सिंह उन्हें यही कहा करते थे की इन आंसुओं को संभल कर रखो क्योंकि मेरे जाने के बाद आजादी की लड़ाई भी आप लोगों को जारी रखनी है।

हमेशा हंसी मजाक करते रहते थे

जेल में इतनी प्रताड़ना और जिल्लत सहने के बावजूद भी भगत सिंह हमेशा खुश मिजाज रहते थे और हमेशा हंसी मजाक करते रहते थे। यहाँ तक की वो कोर्ट में भी देशभक्ति के गीत गाते और ‘इंकलाब जिंदाबाद’ के नारे लगाते थे।

शहीद भगत सिंह द्वारा कही गई ये लाइन हर किसी के अंदर जोश जगा देती है “मेरे जज्बातों को इस कदर जानती है मेरी कलम, कि मैं ईश्क भी लिखना चाहूं तो इंकलाब ही लिखा जाता है”

शहीद भगत सिंह की आखरी इच्छा

भगत सिंह को फांसी लगने से पहले जब दोपहर के खाने के लिए पुछा गया तो उन्होंने खाने में रसगुल्लों की फरमाइश की थी। इनके लिए खासकर रसगुल्ले मंगाए गए और भारत सिंह ने उन्हें बड़े चाव से खाया। भगत सिंह को किताबें पढ़ने का भी काफी शौख था और जब उन्हें फांसी लगाने का हुक्म आया तब भी वो प्रसंग पढ़ने में लीन थे। आर्डर मिलते ही भगत सिंह ने किताब बंद की और अपने साथियों से गले लगकर बोले चलो।

भगत सिंह के साथ सुखदेव और राजगुरु को भी फांसी का आर्डर मिला था तो वो भी साथ में थे। तीनों क्रांतिकारी “इंकलाब जिंदाबाद, साम्राज्यवाद मुदार्बाद” के नारे लगाते लगाते देश के लिए फांसी के फंदे पर झूल गए।

“भारत के 10 महान वैज्ञानिक”
“चंद्रशेखर आजाद से जुड़े रोचक तथ्य”
“ध्यानचंद से जुड़े यह तथ्य आप नहीं जानते होंगे”

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment