1972 में बना था बोलने वाला डाक टिकट

आप सुन के शायद हैरान हो गए होगे मगर आपको बता दें की 1972 में भूटान में बोलने वाला टिकट जारी किया गया था जिस से वैज्ञानिक भी हैरान गए थे। चलिए आपको इस अविष्कार के बारे में बताते है।

भूटान सदा से ही अपनी कलाकृति और संस्कृति के लिए प्रसिद्ध रहा है मगर आज हम यहाँ संस्कृति नहीं तकनीक की बात करेंगे जिसमे भूटान ने सबको पीछे छोड़ दिया था।

भूटान के इस अविष्कार से उस समय सारा विश्व एक बार को स्तब्ध रह गया था। असल में इस टिकट के अंदर एक Recorder था जिस में मधुर संगीत बजता था। सही मायनो में कहा जाये तो टिकटों में हर देश ने कोई न कोई प्रयोग किया है मगर यह अपने आप में ही एक अलग प्रकार का प्रयोग था जिसे उस समय से लेकर अभी तक किसी ने भी नहीं अपनाया।

हम आशा करते है यह जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी होगी। अपनी प्रतिक्रिया आवश्य दें आपकी प्रतिक्रिया हमारा उत्साह बढाती है।

 

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment