SSC क्या है और कैसे करें इसकी तैयारी?

अगर आप भी एक अच्छी सरकारी नौकरी की चाह रखते हैं तो आपने एसएससी (SSC) का नाम ज़रूर सुना होगा और अगर आप अभी तक इसके बारे में नहीं जानते हैं तो आपके लिए एसएससी की जानकारी लेना बहुत फायदेमन्द हो सकता है क्योंकि एसएससी के ज़रिये आप मनचाही सरकारी नौकरी पाने के प्रयासों को तेज़ कर सकते हैं और हो सकता है कि समय रहते आपको अपनी अपेक्षाओं के अनुकूल सरकारी नौकरी मिल भी जाए। ऐसे में आज आपको बताते हैं कि SSC क्या है और इसके ज़रिये सरकारी नौकरी पाने का क्या तरीका होता है। तो चलिए, आज जानते हैं SSC के बारे में-

SSC का पूरा नाम Staff Selection Commission यानी कर्मचारी चयन आयोग है। इस बोर्ड की स्थापना 1977 में की गयी थी। इसका मुख्यालय दिल्ली में है। ये ऐसी सरकारी संस्था है जो केंद्र सरकार के मंत्रालयों और अन्य विभागों के लिए ग्रुप B और ग्रुप C के लिए कर्मचारियों का चयन करती है यानी अगर आप केंद्र सरकार के अधीन सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो SSC की राह पकड़ लीजिये।

SSC ऐसा सेलेक्शन बोर्ड है जो हर साल CGL, CHSL, Steno, JE, CAPF, JHT जैसी प्रतियोगी परीक्षाएं संचालित करता है और परीक्षा के ज़रिये विभिन्न पदों पर योग्य कर्मचारियों का चयन करता है।

एसएससी में केंद्र सरकार द्वारा निम्न पदों पर योग्यता अनुसार नियुक्ति दी जाती है-

1. CGL- Combined Graduate Level Examination
अगर आप ग्रेजुएट हैं तो आप एसएससी के इस लेवल का एग्जाम दे सकते हैं और खाद्य अधिकारी, आयकर अधिकारी और ऑडिटर जैसे पदों पर नियुक्ति के लिए प्रयास कर सकते हैं।

2. CHSL- Combined Higher Secondary Level Examination
अगर आप 12वीं पास हैं तो SSC के इस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं और एलडीसी, कोर्ट क्लर्क, पोस्टल असिस्टेंट और डाटा एंट्री ऑपरेटर जैसे पदों पर नौकरी पा सकते हैं।

3. Steno- Stenographer
अगर आप आशुलिपि में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको ये परीक्षा देनी चाहिए।

4. JE- Junior Engineer
अगर आपने इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कर रखा है तो आप JE का एग्जाम दे सकते हैं और भारत सरकार के विभिन्न विभागों में जूनियर इंजीनियर के तौर पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

5. CAPF- Central Armed Police Force
केंद्र सरकार में सशस्त्र पुलिस बल में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर बनने के लिए आपको ये एग्जाम पास करना होगा और इसके लिए आपका ग्रेजुएट होना और आपकी उम्र कम से कम 20 साल होना जरुरी है।

6. JHT- Junior Hindi Translator
हिंदी अनुवादक के पद पर नियुक्ति के लिए आपको ये परीक्षा पास करनी होगी। इसके लिए हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ पर आपकी पकड़ मजबूत होनी जरुरी है।

आइये, अब जानते हैं कि SSC की तैयारी कैसे की जानी चाहिए-

एग्जाम पैटर्न को समझें – किसी भी एग्जाम की तैयारी के लिए उसके पैटर्न को समझना जरुरी होता है ताकि उसी के अनुसार पूरी रुपरेखा बनायी जा सके। एसएससी एग्जाम में ऑब्जेक्टिव टाइप की लिखित परीक्षा होती हैं जिसमें जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग, इंग्लिश लैंग्वेज और जनरल अवेयरनेस से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं। इस लिखित परीक्षा को पास कर लेने के बाद स्किल टेस्ट होता है जो हर पोस्ट के अनुसार अलग-अलग होता है, जैसे डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए कंप्यूटर टेस्ट और एलडीसी के लिए टाइपिंग टेस्ट। इस तरह के टेस्ट में पास होने के बाद ही आपको उस पोस्ट के लिए योग्य माना जाएगा।

सिलेबस को बारीकी से जानें – सिलेबस को अच्छे से जानें बिना की गयी तैयारी कोई विशेष फायदा नहीं पहुंचा सकती क्योंकि हर एग्जाम का पैटर्न और पूछे जाने वाले सवाल अलग-अलग होते हैं इसलिए एसएससी की तैयारी की शुरुआत में ही सिलेबस को अच्छे से समझना जरुरी है। इसके लिए आप सिलेबस के अंतर्गत हर सब्जेक्ट में आने वाले टॉपिक्स को ध्यान से पढ़ें-समझे और उसी के अनुसार तैयारी करना शुरू करें। इस एग्जाम से जुड़ी कोई किताब या गाइड खरीदते समय भी उसे सिलेबस से मिलान करके ही खरीदें ताकि आपका कोई भी टॉपिक छूटे नहीं और तैयारी का ये पड़ाव आप आसानी से पार कर सके।

नयी रणनीति बनायें – एसएससी का एग्जाम आपके स्कूल और कॉलेज के एग्जाम से काफी अलग होता है इसलिए इसकी तैयारी के लिए आपको नयी रुपरेखा और रणनीति बनाने की जरुरत होगी। आपको ये ध्यान रखना होगा कि जनरल इंटेलिजेंस और न्यूमरिकल एप्टीट्यूड में अंग्रेजी और जनरल अवेयरनेस की तुलना में ज़्यादा समय लगता है इसलिए अपने समय को इस तरह समायोजित करें कि तय समय सीमा में आप सभी तरह के प्रश्नों को सही तरीके से हल कर पाएं।

टाइम मैनेजमेंट – टाइम मैनेजमेंट हर एग्जाम की जरुरत होती है और ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों को हल करने के लिए भी आपको अपने समय को इस तरह मैनेज करने का अभ्यास करना होगा ताकि सही समय पर बिना हड़बड़ी और ग़लती किये पेपर पूरा हल किया जा सके। सबसे पहले उन प्रश्नों को हल करना चाहिए जो आपको अच्छी तरह से आते हैं और उसके बाद में उन सवालों को देखें जिन्हें लेकर आप थोड़े कंफ्यूज हैं वरना हर प्रश्न में उलझने की आदत आपको समय रहते बेहतर प्रदर्शन नहीं करने देगी इसलिए पेपर सॉल्व करने के इस कांसेप्ट को अपनी प्रैक्टिस में लाएं ताकि एग्जाम देते समय आप सहज महसूस कर सके।

करेंट अफेयर्स पर रखें नज़र – करेंट अफेयर्स से जुड़े प्रश्न काफी अहम होते हैं लेकिन अक्सर स्टूडेंट्स परीक्षा से कुछ दिन पहले ही इनकी तरफ ध्यान देने लगते हैं जिसकी वजह से अक्सर ये हिस्सा कमज़ोर रह जाता है और रिजल्ट को प्रभावित भी करता है। अगर आप बेहतर स्कोर बनाना चाहते हैं तो करेंट अफेयर्स के लिए रोज़ाना एक निश्चित समय निकालना ज़रूरी है जिसमें आप देश-दुनिया से जुड़ी सभी नयी घटनाओं के बारे में जानकारी रख सकें और सिलेबस के इस सेक्शन में बहुत अच्छे मार्क्स ला सकें।

तैयारी नियमित हो – इस परीक्षा की तैयारी कुछ दिनों या महीनों में नहीं की जा सकती। इसे पास करने के लिए आपको बहुत सी स्किल्स को सीखना और खुद में विकसित करना होगा इसलिए इसकी तैयारी के लिए पर्याप्त समय लें और नियमित रूप से इसकी तैयारी करें। सिलेबस को तैयार करने के साथ-साथ प्रैक्टिस सेट के ज़रिये अपनी तैयारी को चेक भी करते रहें और एक फिक्स टाइम- लिमिट में प्रश्नों को हल करने का अभ्यास भी करें। इस एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग होती है इसलिए सोच-समझकर प्रश्नों का उत्तर देने की प्रैक्टिस शुरू कर दें ताकि एग्जाम के दौरान आप ज़्यादा नेगटिव मार्किंग के शिकार बनने से बच जाएँ।

स्किल टेस्ट के लिए भी तैयार रहें – लिखित परीक्षा पास कर लेने के बाद होने वाले स्किल टेस्ट के लिए भी आपका तैयार होना ज़रूरी है इसलिए परीक्षा होने के बाद ज़्यादा से ज़्यादा समय स्किल बढ़ाने में लगाएं ताकि आपकी की गयी मेहनत आपका मनचाहा परिणाम लेकर आये।

दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि एसएससी क्या है और इसकी तैयारी करने के लिए आपको किस तरह की रुपरेखा बनाने की जरुरत होगी। तो बस, देर किस बात की ! अगर आप समय रहते मनचाही सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं तो अभी से जुट जाइये क्योंकि लगन और मजबूत इरादे ही हर मुश्किल मुकाम को पाने की पहली सीढ़ी होते हैं। शुभकामनायें!!

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“परीक्षा के तनाव को दूर कैसे करे”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।