स्टेमिना बढ़ाने के सरल आयुर्वेदिक उपाय

आइये जानते हैं स्टेमिना बढ़ाने के सरल आयुर्वेदिक उपाय। हर किसी की ख्वाहिश होती है उसका स्टेमिना मजबूत हो। स्टेमिना मजबूत होने से आपका शरीर घड़ी-घड़ी बीमारियों की चपेट में नहीं आएगा। इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हम शरीर को सभी पोषक तत्व नहीं दे पाते हैं जिसकी वजह से हमारा शरीर कई बीमारियों से घिर जाता है।

अगर आप चाहते हैं कि आप अंदर से मजबूत बनें तो इसके लिए जरूरी है अपने स्टेमिना को स्ट्रॉन्ग बनाना। वैसे तो कई ऐसे फूड्स हैं जिससे आपके शरीर की ताकत बढ़ सकती है लेकिन इसके अलावा कुछ आसान चीजों को अपनाकर भी आप अपने स्टेमिना को बढ़ा सकते हैं। आयुर्वेद में मौजूद इन जड़ी बूटियों के सेवन से आपका स्टेमिना बढ़ जाएगा।

पैदल चलने के फायदे

स्टेमिना बढ़ाने के सरल आयुर्वेदिक उपाय

1. अश्वगंधा – अश्वगंधा एक बहुत पुरानी औषधि है। यह आपके पूरे शरीर पर अपना प्रभाव डालती है। यह तनाव, कब्ज और गठिया से भी आपको मुक्ति दिलाने में मदद करती हैं। बढ़ते तनाव की वजह से आप शरीर को स्वस्थ आहार नहीं देते हैं जिसकी वजह से आपका स्टेमिना कम होता जाता है। अश्वगंधा का सेवन करने से ना केवल आप स्वस्थ रहते हैं बल्कि आपका स्टेमिना भी बढ़ता है।

2. शतवारी – कई सालों से अपने फायदों की वजह से शतवारी का उपयोग किया जा रहा है। इसकी रोगनाशक शक्ति गैस और नर्वस सिस्टम पर अपना काम करती है। इसके इस्तेमाल से आपके स्टेमिना में बढ़ोत्तरी होती है और आपके अंदर आत्मविश्वास पैदा होता है।

3. ब्राह्मी – अपने अद्भुत गुणों की वजह से ब्राह्मी का उपयोग किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट आपके स्टेमिना को बढ़ाने में मदद करते हैं और वजन को बढ़ने से रोकते हैं। इसके ऑक्सीडेंट शरीर में मौजूद विषाक्त चीजें को शरीर से बाहर करके ब्लड सेल्स को विकसित करते हैं।

4. शिलाजीत – प्राचीन भारत से ही डॉक्टर इस औषधि का इस्तेमाल करते आ रहे हैं। शिलाजीत आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करती है।

5. गोकशुरा – इस औषधि की मदद से आप अपने ताकत और क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इसमें मौजूद ऑक्सीडेंट आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर आपकी ताकत को बढ़ाते हैं।

6. एलोवेरा – एलोवेरा की पत्तियों में मौजूद गूदे को खाने से आपका स्टेमिना बढ़ता है। अगर आप गूदा ना खा पाएं तो इसके जूस को भी पी सकते हैं।

7. नीम – नीम के बहुत से फायदे हैं जिसकी वजह से यह इस्तेमाल किया जाता है। नीम के रस को पीने से आपके शरीर का स्टेमिना बढ़ता है और शरीर में मौजूद विषाक्त चीजें बाहर निकलती हैं।

स्टेमिना बढ़ाने के सरल आयुर्वेदिक उपाय 1

ये तो थी आयुर्वेदिक औषधियों की बात अब आपको उन आहार के बारे में बताते हैं जिनके रोजाना इस्तेमाल से आपका स्टेमिना बढ़ सकता है।

1. ओट्स – ओट्स में काफी मात्रा में ऊर्जा होती है। अगर आप रोजाना दूध के साथ ओट्स खाते हैं तो इससे आपके शरीर की ताकत और क्षमता बढ़ती है।

2. स्प्राउट्स – स्प्राउट्स यानि की अंकुरित अनाजों को खाने से आपका स्टेमिना बढ़ता है और आपको ताकत मिलती है। अंकुरित मूंग की दाल सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है।

3. देसी घी – ताकत बढ़ाने और शरीर को मजबूत बनाने के लिए देसी घी का सेवन करना काफी लाभदायक होता है।

4. पालक का सूप – पालक का सूप आपके शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व प्रदान करता है और ऊर्जा देता है। इसमें मौजूद कैल्शियम आपके स्टेमिना बढ़ाने में मदद करता है।

5. केला – केला शरीर को ऊर्जा प्रदान करने का सबसे अच्छा स्रोत है। केला आपको बलवान बनाने के साथ ही आपके स्टेमिना को भी बढ़ाता है।

उम्मीद है जागरूक पर स्टेमिना बढ़ाने के सरल आयुर्वेदिक उपाय कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

नकारात्मक सोच से छुटकारा कैसे पाएं?

जागरूक यूट्यूब चैनल