एथलीटों और बॉडीबिल्डर्स के द्वारा स्टेरॉयड्स के सेवन करने के कई मामले आपने भी देखे-सुने होंगे और आप भी जानना चाहते होंगे कि स्टेरॉयड क्या होते हैं? तो चलिए, आज आपको बताते हैं स्टेरॉयड क्या होते हैं।

स्टेरॉयड क्या है?

स्टेरॉयड शरीर में सामान्य रूप से बनने वाले हार्मोन होते हैं। लेकिन ये दवाओं के रूप में भी मिलते हैं और खिलाड़ियों द्वारा अपनी मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने के लिए जिन स्टेरॉयड दवाओं का ज़्यादा सेवन किया जाता है उन्हें एनाबॉलिक एंड्रोजेनिक स्टेरॉयड (एएएस) कहते हैं।

ऐसे स्टेरॉयड को मुँह से निगलकर या इंजेक्शन के ज़रिये मांसपेशियों में पहुंचाया जाता है। जिससे मांसपेशियों की ताकत तेज़ी से बढ़ने लगती हैं और खासतौर पर खेल के दौरान प्रदर्शन कई गुना बढ़ जाता है। इसलिए कई एथलीट इस स्टेरॉयड का सेवन करते हैं जो खेल के नियमों के विपरीत है।

बीमारियों के इलाज के लिए काम में लिए जाने वाले स्टेरॉयड दवाओं के प्रकार को कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स कहा जाता है।

इनका इस्तेमाल आर्थराइटिस, अस्थमा, कैंसर के कुछ प्रकारों और एग्जिमा जैसी स्किन प्रॉब्लम्स और ल्यूपस और मल्टी स्क्लेरोसिस जैसी ऑटोइम्यून बीमारियों के इलाज में किया जाता है।

लेकिन इसका सेवन भी सीमित मात्रा में और डॉक्टर की सलाह के अनुसार होना जरुरी है।

अगर स्टेरॉइड्स डॉक्टर की सलाह से, सही मात्रा में लिए जाए तो ये दर्द को कम करने और शरीर की ताकत को बढ़ाने में सहायक होते हैं। लेकिन इनका ज्यादा सेवन शरीर को बहुत नुकसान भी पहुंचा सकता है।

आजकल युवाओं द्वारा इसका ग़लत तरीके से सेवन करने की वजह से ही शरीर पर इसके साइड इफेक्ट्स दिखाई देने लगते हैं।

स्टीरॉयड के साइड इफेक्ट-

  • शरीर का वजन बढ़ जाता है
  • शरीर में सूजन आ जाती है
  • डायबिटीज की संभावना प्रबल हो जाती है
  • ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है
  • पूरे शरीर पर बाल निकलने लगते हैं
  • हड्डियां कमजोर हो जाती हैं
  • व्यक्ति नपुंसक भी हो सकता है
  • व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

उम्मीद है जागरूक पर स्टेरॉयड क्या है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल