अंतिम समय में स्टीव जॉब्स ने शेयर किये अपने प्रेरणात्मक विचार

Apple कंपनी के सह-संस्थापक रहे स्टीव जॉब्स पैन्क्रीऐटिक केंसर से पीड़ित थे और 5 अक्टूबर 2011 को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। विचारों से एक सुलझे हुए व्यक्ति अपने काम के प्रति काफी सजग और संजीदा थे।

स्टीव जॉब्स हम सभी के लिए एक प्रेरणा रहे हैं, अपने अंतिम समय में भी उन्होंने कई प्रेरणात्मक विचार शेयर किये जिनसे हमें भी प्रेरणा लेनी चाहिए।

स्टीव जॉब्स ने बताया की सभी लोग मुझे एक बहुत बेहतरीन बिज़नस मैन समझते हैं लेकिन आज मैं जिन हालात से गुजर रहा हूँ मुझे लगता है मेरा कमाया हुआ धन मेरे मौत के समय किसी काम का नहीं है।

आइये आपको स्टीव जॉब्स द्वारा अपने अंतिम समय में शेयर की गयी उन प्रेरणात्मक बातों से रूबरू कराते हैं जिनसे हम सब को प्रेरणा लेनी चाहिए।

* स्टीव जॉब्स का कहना था की मैं इस स्थिति में यही महसूस करता हूं की जिंदगी में चाहे कितना भी धन कमा लो लेकिन अपने रिश्ते और बचपन के सपनों को हमेशा संजो कर रखना चाहिए और उनकी ओर ध्यान देना चाहिए। हमेशा धन कमाने की आदत आपको मेरी तरह विकृत बना देगी।

* स्टीव जॉब्स के अनुसार बीमारी का बेड दुनिया का सबसे महंगा बेड है क्योंकि आप अपने हर काम के लिए किसी न किसी को हायर कर सकते हैं लेकिन अपनी बीमारी की तकलीफ झेलने के लिए किसी को हायर नहीं कर सकते वो आपको खुद ही झेलनी होगी। आप हर चीज़ को वापस हासिल कर सकते हैं लेकिन अपनी जिंदगी नहीं।

* स्टीव जॉब्स ने अपने विचार व्यक्त करते हुए बताया कि ऑपरेशन रूम में जाते समय व्यक्ति को अहसास होता है की वो जिंदगी में एक किताब है जो उसने अब तक नहीं पढ़ी और वो है बुक ऑफ हेल्दी लाइफ। हर व्यक्ति को अपनी जिंदगी में अपने रिश्तों, परिवार दोस्तों आदि से प्यार करना चाहिए क्योंकि मौत के बाद अपने साथ सिवाय अछि यादों के कुछ नहीं जाता।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

“पोरस और सिकंदर की दिलचस्प कहानी”