पाकिस्तान के अजीब कानून

683

हर देश को चलाने के लिए कई प्रकार के कानूनों का इस्तेमाल किया जाता है ताकि वहां की व्यवस्था सुचारु रुप से चलती रहे लेकिन हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान के अजीब कानून हैं जिन्हे जानने के बाद आप हैरत में पड़ जाएंगे। तो चलिए इन कानूनों के बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं।

पाकिस्तानी नागरिक इसराइल नहीं जा सकते – पाकिस्तान अपने किसी भी नागरिक को इजराइल जाने की इजाजत नहीं देता और ना ही उन्हें कोई वीजा इशू करता है। इतना ही नहीं इजराइल की करेंसी भी पाकिस्तान में मान्य नहीं है। इसी वजह से अगर किसी पाकिस्तानी को इजराइल जाना है तो सीधे इजराइल नहीं जा सकता। मुख्य तौर पर देखा जाए तो पाकिस्तान इजराइल को देश ही नहीं मानता। इसीलिए पाकिस्तान यहां के लिए वीसा ही नहीं देता है इतना ही नहीं वह इज़राइल को नक्शे में भी नहीं दिखाता।

अगर आप पाकिस्तान में हैं और आपने किसी की इजाजत के बिना उसका फोन छू लिया तो आप को 6 महीने की जेल हो सकती है। अब अगर आप यह सोच रहे हैं कि इस बात को कैसे तय किया जाता है कि किसने किसका फोन छुआ तो आपको बता दें कि फोन मालिक के दिए गए बयान पर ही इस बात को तय किया जाता है कि फोन छुआ गया है और उसी के आधार पर सजा सुना दी जाती है।

पाकिस्तान में अहमदी समुदाय के लोगों को गैर मुस्लिम माना जाता है। यह पाकिस्तान का सबसे बुरा कानून है। साल 1974 तक अहमदी समुदाय पाकिस्तान के मुस्लिम समुदाय का ही एक हिस्सा था लेकिन सन 1974 में एक विशेष कानून बनाते हुए यह घोषणा कर दी गई कि अहमदी समुदाय गैर मुसलमान है। यहां तक कि अगर आप पासपोर्ट लेने भी जाएंगे तो वहां पर एक घोषणा पत्र पर साइन करवाए जाते हैं जिसमें यह लिखा जाता है कि “मैं अहमदी समुदाय को गैर मुस्लिम घोषित करता हूं”

अगर आप पाकिस्तान में पढ़ाई करोगे तो लगेगा टैक्स – आपको बता दें कि पाकिस्तान में साक्षरता दर मात्र 50% है और इसके अनेक कारणों में से सबसे बड़ा कारण यह है कि यहां पर अगर आप पढ़ाई कर रहे हैं और आपकी पढ़ाई पर 200000 से ज्यादा खर्च हो रहा है तो इसके लिए आपको 5% टैक्स देना पड़ेगा। तो अब आप खुद ही सोच सकते हैं कि जो इंसान किसी भी तरीके से पैसे जुटा कर पढ़ाई कर रहा है वह अगर टैक्स भी देगा तो पढ़ाई कैसे करेगा।

पाकिस्तान में है 3 तरीके के कानून – पाकिस्तान दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां पर तीन प्रकार के कानून है। पहला कानून पाकिस्तान का पेनल कोड है, दूसरा है शरिया कानून और तीसरा है जिरगा कानून।

यह कानून क्षेत्र के हिसाब से बाटे हुए हैं। यानी की गांव और पिछड़े इलाकों के लिए अलग कानून है और शहरों के लिए अलग। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि पाकिस्तान कानूनी रुप से एक कमजोर देश माना जाता है और यहां पर लोग अपने हिसाब से कानून को तोड़-मरोड़ देते हैं। यह लोग इतने ताकतवर हैं कि पाकिस्तान की सरकार भी इनसे डरती है इसलिए इनकी मन मर्जी मुताबिक कानून चलाए जाते हैं।

पाकिस्तान में रमजान के महीने में 1 महीने तक बाहर खाना खाना सख्त मना है और अगर आप मुस्लिम नहीं भी है तब भी आपको इसे मानना पड़ेगा।

हम आशा करते है यह जानकारी आपके लिए रोचक सिद्ध हुई होगी और आप इसे अपने मित्रों के साथ आवश्य शेयर करेंगे।

“जानिए भारत और पाकिस्तान में से कौन है ज्यादा ताकतवर”
“पाकिस्तान से जुड़े यह तथ्य आप नहीं जानते होंगे”
“ऋतिक से लेकर अमिताभ तक का है पाकिस्तान से ख़ास कनेक्शन, जानिए कैसे”

Add a comment