तकिया लगाने से हो सकते हैं ये गंभीर नुकसान

दिनभर की थकान के बाद आप एक मीठी नींद चाहते हैं और इसके लिए अपने बिस्तर पर अपना नरम-तकिया लगाकर सो जाते हैं। इस समय आप सोचते हैं कि इस तकिये के कारण ही आपको अच्छी नींद आती है, लेकिन सच तो ये है कि ये तकिया आपकी बेहतर नींद का साथी नहीं है बल्कि इसकी वजह से आपकी स्किन को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे में भले ही आप चौंक गए हों, लेकिन ये तो ज़रूर जानना चाहेंगे कि आखिर तकिया लगाने से क्या परेशानी हो सकती है। तो चलिए, आपको बताते हैं तकिया लगाने से होने वाले नुकसानों के बारे में–

चेहरे के लिए नुकसान – जिस तकिये पर सिर रखकर आप सुकून से सोया करते हैं, उसमें जाने कितनी गन्दगी मौजूद होती है। भले ही आप सफाई का ध्यान रखते हो, फिर भी तकिये में धूल, बाल, रेशे और तेल जैसी चीज़ें लगी रहती है। ऐसे में जब आपका चेहरा तकिये के संपर्क में आता है तो इस गन्दगी के कण आपके चेहरे के रोमछिद्रों में चले जाते हैं और चेहरे के ये पोर्स बंद हो जाते हैं। इतना ही नहीं, चेहरे पर तकिये की रगड़ लगने से झुर्रियां जल्दी आने का ख़तरा भी काफी बढ़ जाता है।

बालों को नुकसान – अगर आप अपने झड़ते बालों के कारण परेशान है, तो हो सकता है कि इसका कारण आपका तकिया ही हो क्योंकि जब तकिये से बालों पर रगड़ लगती है तो बाल बीच में से टूटना शुरू कर देते हैं। इसके अलावा, रगड़ के कारण उनकी नमी ख़त्म हो जाती है और वो रूखे हो जाते हैं।

आप सबसे ज़्यादा केयर शायद अपने चेहरे और बालों की ही करते होंगे लेकिन तकिया लगाने से चेहरे और बालों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है, ये जानकर हो सकता है कि आप तुरंत तकिया लगाना छोड़ने का फैसला ले लें। लेकिन ऐसा करने से पहले ये समझ लें कि कोई भी आदत तुरंत नहीं छोड़ी जा सकती इसलिए धीरे-धीरे तकिया लगाने की आदत छोड़ सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप गर्दन, कंधे या रीढ़ की किसी समस्या से ग्रस्त हैं तो तुरंत तकिया हटाना नहीं छोड़े। ऐसा करने पर आपको अच्छी नींद नहीं आ पाएगी और आप चिड़चिड़ापन और तनाव महसूस करेंगे, इसलिए धीरे-धीरे और डॉक्टर के परामर्श से ऐसा करें।

तो दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि जिस तकिये के बिना आपको नींद नहीं आया करती थी, वही तकिया आपकी नींद और स्किन का दुश्मन बन जाता है और अब रिसर्च से भी साबित हुआ है कि बिना तकिया लगाए सोने से नींद अच्छी आती है, सिर, गर्दन और कन्धों की नसों को आराम मिलता है और आप अगले दिन रिलैक्स और फ्रेश महसूस करते हैं।

ऐसे में तकिया लगाने की आदत को छोड़ना ही बेहतर है लेकिन अगर आप ऐसा नहीं करना चाहते हैं तो अपने तकिये की सफाई का ध्यान ज़रूर रखिये यानी हर 6 महीने में अपना तकिया बदल लीजिये, तकिये के कवर को साफ रखिये, सोते समय बालों को हल्का बाँध कर सोइये और मुलायम तकिये का इस्तेमाल करिये।

तकिये के इस्तेमाल से जुड़े सारे विकल्प अब आपके पास है, आप अपने अनुसार सही विकल्प चुन लीजिये और अच्छी और सुकूनभरी नींद का आनंद लेते रहिये।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“स्मॉग क्या है और इससे बचाव के उपचार”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।