एक चैम्पियन की तरह बात करना सीखें

फरवरी 4, 2016

आप जिन शब्दों को प्रयोग में लाते हैं, उससे यह पता चलता है कि आप उन्हें किस तरह निर्धारित करते हैं. वास्तव में आप जिस भाषा को महसूस करते हैं उसी भाषा का इस्तेमाल आप बोलचाल में भी करते हैं. आपके शब्दों का संग्रह ही आपके जीवन की दिशा निर्धारित करते हैं. हमें लगता है यह बहुत विचारणीय विषय है. आप भी इस विचार पर ज़रूर मंथन कीजिये. कुछ भी सीखने या समझने के लिए आपके अंदर एक जबरदस्त उत्साह व जुनून होना बहुत ज़रूरी है. तभी आप उत्साही सुपर स्टार या चैम्पियन की तरह बात करना सीख पायेंगे.

एक सुपर स्टार व्यवसायी के अंदर यह गुण मूलभूत रूप से होता ही है. जिस तरह से ऐसे लोग बात करते हैं, एक इंसान को आगे तक ले जानें और उँचाई पर पहुँचाने के लिए जिस निष्ठा व लगन से वे काम को अंजाम देते हैं, वो सब उनकी बातों से साफ झलकता है. ऐसे चैम्पियन व्यक्ति सपने में भी अपनी समस्या को गतिरोध नही मानते और कहते हैं – समस्याओं में एक नई संभावना को देखो, जिससे ज़्यादा से ज़्यादा और अच्छा काम किया जा सके. ऐसे चैम्पियन व्यवसायिओं की भाषा में एक जादुई सकारात्मक शक्ति होती है, जो श्रोताओं के अंदर सकारात्मक संवेदना का संचार करती है. जिसकी मदद से श्रोता कठिन से कठिन परिवेश से निकल कर भी अपने आप को विजेता साबित कर देते हैं.

कोई भी श्रेष्ठ व्यक्ति किसी बुरे या कमजोर इंसान को उसकी बुराई या कमज़ोरी के रूप में नही देखते बल्कि उसमे सुधार लाने के लिए एक चुनौती के रूप में देखते हैं. ऐसे महानुभवी व्यक्ति नकारात्मक भाषा का उपयोग करने के बजाय दिल जीतने वाले शब्दों का प्रयोग कर अपने इर्दगिर्द के लोगों में उत्साह और सकारात्मकता का फैलाव करते हैं, ताकि वह अपने लक्ष्य पर अपना शत प्रतिशत ध्यान केंद्रित कर सकें. आप चाहे जो भी जीवन जी रहे हैं, उस पर असर डालने वाले शब्दों का चयन अक्लमंदी से कीजिये.

हम आपको एक छोटा सा सुझाव दें रहें हैं, अगर आपको सही लगे तो उसे अभ्यास में ज़रूर लें. एक डायरी या कोरा कागज लीजिये, उसमें वो शब्द लिखिये जो आपने अपने जीवन में सबसे ज़्यादा बोलने में इस्तेमाल किए हैं. डायरी में जितने ज़्यादा शब्दों का आपके पास संग्रह होगा उस भाषा पर आपकी उतनी ही ज़्यादा पकड़ होगी. खुद को अधिक से अधिक विकल्प दें. इन शब्दों को कोरे कागज पर उतारने से आपके आत्म-ज्ञान में वृद्धि होगी. उसके बाद आपके सामने वो शब्द लिखित तौर पर होंगे जो शब्द आप ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं. इन शब्दों में से फिर एक नई सूची तैयार करें, जिनका उपयोग आपकी भाषा में सबसे अधिक होता है.

इन दोनों सूचियों को एक करने से आपके पास सकारात्मक शब्दों का एक संग्रह तैयार हो जायेगा, जो आपकी मदद के लिए सदा तैयार होगा – जिन शब्दों का आप इस्तेमाल करना चाहते हैं वह आपको आपके क्षेत्र में सुपरस्टार बना देंगे – ऐसे शब्दों को प्रतिदिन बोलने की आदत में शामिल करें. इस तरह के शब्दों का प्रयोग करके आप खुद में बेहतर महसूस करेंगे. ज्यादा शक्तिशाली, ज्यादा भावपूर्ण, ज्यादा अनुभवी, ज्यादा श्रेष्ठ जब आप महसूस करेंगे, तो क्या होगा आप भलीभाती जानते हैं? आप दुनिया में महान काम करेंगे. आपके बात करने के लहजे से लोग आपको महानता का मार्गदर्शक मानेंगे और ना जानें आपकी बातों का असर दुनिया में कहाँ-कहाँ तक होगा. यकीन मानिये आप सुपर चैम्पियन की तरह अपनी भाषा में माहिर हो जायेंगे.

”कारोबार या जीवन में महानता, एक प्रेरक व्यक्ति बनने से ही मिलती है.”

“परीक्षा में टॉप करना है तो इन बातों का रखें ध्यान”

शेयर करें