प्यार के साथ सिखाएँ अनुशासन

बच्चोँ मेँ माता-पिता की जान बसती है और शायद यही कारण है कि वह अपने जिगर के टुकडे पर प्यार की बारिश करते हैँ। लेकिन कभी-कभी अभिभावकोँ का यही प्यार बच्चोँ को अनुशासनहीन व जिद्दी बना देता है। जो शायद कुछ पल के लिए तो अच्छा लगता है परंतु उनका यह व्यवहार भविष्य मेँ परेशानियोँ का सबब बन जाता है। इसलिए हर माता-पिता का यह फर्ज है कि वह बच्चोँ को प्यार करेँ लेकिन उन्हेँ अनुशासन का पाठ भी अवश्य सिखाएँ-

समझाएँ अनुशासन

आज की जेनरेशन कोई भी काम तभी करती है, जब वह उस काम को करने के लिए कन्विंस हो जाएँ। इसलिए बच्चोँ को अनुशासित करने से पहले उन्हेँ अनुशासन का सही अर्थ व जीवन मेँ उसके महत्व को समझाना बेहद आवश्यक है। अनुशासन का तात्पर्य यह नहीँ है कि आप दूसरोँ की कही बात को बिना सोचे-समझे मान लेँ। बल्कि अनुशासन का वास्तविक अर्थ तो स्वयँ पर शासन करना होता है। जब आप खुद को नियंत्रित कर पाने मेँ सफल हो जाते हैँ तो जीवन मेँ सफलता आपके कदम चूमने लगती है।

जरूरी है अनुशासन

अनुशासन जीवन के हर क्षेत्र व हर कदम पर बेहद आवश्यक है। अभिभावक भले अपने बच्चे का भला चाहते होँ लेकिन वह हर कदम पर उसके साथ नहीँ रह सकते। ऐसे मेँ जीवन मेँ सही फैसले लेने और उनको पूरा करने के लिए व्यक्ति का अनुशासित होना आवश्यक है। इतना ही नहीँ, अनुशासित व्यक्ति अपनी जिम्मेदारियोँ को न सिर्फ समझता है, बल्कि उन्हेँ पूरा करने का दम भी रखता है। जीवन को आदर्श तरीके से जीने के लिए अनुशासित होना बेहद आवश्यक है।

खुद भी होँ अनुशासित

आपने अपने बच्चोँ को कभी न कभी खुद की नकल उतारते हुए अवश्य देखा होगा। दरअसल, बच्चे वैसा ही करते हैँ, जैसा उनके माता-पिता का व्यवहार होता है। इसलिए अगर आप बच्चोँ को अनुशासित देखना चाहते हैँ तो इसके लिए आपको सबसे पहले खुद ही अनुशासित होना पडेगा। महात्मा गान्धी ने भी कहा था कि हम दबाव मेँ अनुशासन नहीँ सीख सकते और न ही अपने बच्चोँ को सिखा सकते हैँ। बच्चोँ के लिए तो उनके माता-पिता ही प्रेरणास्त्रोत होते हैँ। इसलिए सबसे पहले आप सभी कार्योँ को सही समय पर व अनुशासित तरीके से कीजिए। इसके अतिरिक्त इस बात का भी ध्यान रखेँ कि बच्चे एक दिन मेँ अनुशासित नहीँ बनेंगे। जिस प्रकार एक बीज को फल-फूलकर पेड बनने मेँ समय लगता है, ठीक उसी प्रकार बच्चोँ को अनुशासन ग्रहण करने के लिए थोडा समय लगेगा।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment