भारत का एक मंदिर जहाँ होती है बुलेट की पूजा

भारत में ही नहीं विदेशों तक में बुलेट की मांग है और यह बाइक बहुत ज़्यादा प्रचलित भी है। मगर शायद आप यह नहीं जानते होंगे की राजस्थान के पाली जिले में एक मंदिर है जहाँ बुलेट की पूजा भी की जाती है। स्थानीय लोगों का यह मानना है की बुलेट बाबा सभी लोगो की समय पड़ने पर रक्षा करते है और चाहे कोई भी वहां यहाँ से गुज़रे रुकता जरूर है।

मंदिर का इतिहास

यहाँ पर पास में ही एक चोटिला नामक गांव है जहाँ पर ओम सिंह राठौर उर्फ़ ओम बन्ना रहते थे एक दिन वो अपने ससुराल से वापस आ रहे थे तभी दुर्घटना में उनकी आकस्मिक मृत्यु हो गयी। उनकी बुलेट बाइक को रोहिट थाने ले जाया गया मगर जब अगले दिन की सुबह हुई तो सभी पुलिस वाले चकित रह गए क्योँकी बाइक थाने में थी ही नहीं। बुलेट उसी स्थान पर वापस चली गयी ऐसा कई बार हुआ की बाइक को थाने लाया गया और वो वापस अपने आप उसी स्थान पर चली जाती थी। यहाँ तक की बेड़ियों से बांधने के बावजूद भी बुलेट उस स्थान पर चली गयी। यह बहुत ही आश्चर्य वाली बात थी।

उसके बाद से ही इस स्थान को पवित्र आत्मा का स्थान मान के यहाँ पूजा अरचना शुरू कर दी गयी। यह स्थान वहां के स्थानीय लोगों के लिए बहुत ही सम्माननीय स्थान है। यहाँ दिन-रात जोत जलती रहती है और ग्रामीण नारियल ,फूल, दारू आदि चढ़ावा चढ़ाते है।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment