सऊदी अरब में नहीं है पानी फिर भी है हरियाली जानिए कैसे

जब भी बात सऊदी अरब की आती है तो हमारे दिमाग में जो तस्वीर उभरती है उसमें एक बहुत ही विशाल रेगिस्तान आता है और यह सच भी है क्योंकि सऊदी अरब में कोई भी पानी का साधन नहीं है। ना तो वहां कोई नदी है ना कोई तालाब और बारिश भी बहुत कम होती है। लेकिन आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं उसे जानकर आप दंग रह जाएंगे सऊदी अरब में पानी ना होने के बावजूद भी हरियाली देखने को मिल जाती है और यह दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

इसके पीछे एक तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसके द्वारा सऊदी अरब में बिना पानी के भी हरियाली को बढ़ाया जा रहा है।

वहां पर इस तकनीक को बढ़ाने के लिए एक मंत्रालय बनाया गया है जिसे पानी और बिजली मंत्रालय कहा जाता है। इस तकनीक के अंतर्गत पहले पानी को स्टोर करने के लिए एक जगह का चुनाव किया गया जहां पर पानी को धरती के भीतर स्टोर किया जा सकता है। सऊदी अरब सरकार ने इस कार्य को 1970 से करना शुरु कर दिया था और 1970 से लेकर आज तक बहुत सारे ऐसे पानी इकट्ठा करने वाले तैयार कर लिए गए इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसके अलावा समुद्री पानी को पीने लायक बनाने के लिए भी 27 प्लांट लगाए गए हैं जिनके लिए अलग-अलग क्षेत्रों का चुनाव भी किया गया है।

यह प्लांट करीबन 3 मिलियन क्यूबिक मीटर पीने लायक पानी रोज बना देते हैं जो कि सऊदी अरब की 70% पानी की खपत को पूर्ण कर देता है।

इसके अलावा यह प्लांट बिजली भी बनाते हैं। लेकिन अभी समुद्री पानी को पीने लायक बनाने में काफी खर्चा हो रहा है और वैज्ञानिक इस खोज में लगे हुए हैं कि इस खर्चे को कैसे आने वाले समय में कम किया जाए।

आपको बता दें कि इस पानी को संरक्षित कर रखने के लिए 200 डैम भी बनाए गए हैं जिसमें इस पीने वाले पानी को सुरक्षित रखा जाता है। इन डेमो के जरिए ही पानी को एक स्थान से दूसरे स्थान भेजा जाता है।

सऊदी अरब सरकार इस बात पर भी ध्यान दे रही है कि इस्तेमाल किए गए पानी को भी कैसे रीसायकल करके वापस इस्तेमाल में लिया जाए। उसके लिए भी उन्होंने एक सिस्टम बनाया है जिसके अंतर्गत 40% इस्तेमाल किया हुआ पानी भी वापस इस्तेमाल में लिया जा रहा है। इसके लिए सबसे बड़े रीसाइक्लिंग प्लांट रियाद और जेद्दाह में लगाए गए हैं।

Source

“चीन रेगिस्तान में भी ले आया हरियाली”
“रेगिस्तान के बीचो बीच बसा है यह गांव जहाँ हरियाली की कोई कमी नहीं है”
“इज़राइल से जुड़ी कुछ रोचक बातें”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment