इस तरह आप भी बचा सकते हैं जल क्योंकि जल नहीं तो कल नहीं

1243

जल ही जीवन है ये तो आपने सुना ही होगा लेकिन ये सिर्फ कहावत नहीं है ये आज का सच है जिसे हमें गम्भीरता से लेना चाहिए। आज जिस तरह से अकाल पड रहा है और जल की कमी हो रही है उसको देखते हुए अगर हमने आज जल नहीं बचाया तो कल हमें पीने के लिए भी जल प्राप्त नहीं होगा। तो आइये जानते हैं हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में किस-किस तरह से हम जल को व्यर्थ बहाने से बच सकते हैं।

* नहाने के लिए अगर आप बाथ टब का इस्तेमाल करते हैं तो ये आवश्यकता से ज्यादा पानी बर्बाद करने का जरिया होगा इसके लिए बेहतर होगा की आप एक बाल्टी में पानी भरकर या शावर से नहाएं।

* टूथपेस्ट करते समय, दाड़ी बनाते समय या हाथ धाेते समय नल खुला ना छोड़ें जरुरत पड़ने पर ही नल खोलें।

* बर्तन धोते समय भी पूरे समय नल खुला ना रखें इससे पानी की बर्बादी ज्यादा होगी, पहले बर्तनों को माँझ लें और फिर पानी से धोएं तब तक नल खुला ना रखें।

* अगर घर की टंकी या नल आदि में से पानी का रिसाव होता रहता है तो उसे जल्द से जल्द ठीक कराएं क्योंकि एक एक बूँद से पानी बर्बाद होता है और हमे इसका अंदाजा भी नहीं लगता।

* गाड़ी की धुलाई करते समय हम अक्सर पाईप का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इससे ज्यादा पानी बर्बाद होता है, इसकी बजाय बाल्टी में पानी भरकर गाडी धोना एक बेहतर विकल्प होगा।

* पानी के टैंक में वाल्व और अलार्म जरूर लगाएं जिससे टंकी भर जाने पर पानी बाहर ना फैले और अलार्म बज जाए।

* आप अप्रत्यक्ष रूप से भी पानी बचाने में सहायक बन सकते हैं। आपको बता दें की हर चीज़ बनाने में पानी लगता है, जैसे की एक सूती टी-शर्ट बनाने में करीब 2500 लीटर पानी और एक जोड़ा जींस बनाने में करीब 10,000 लीटर पानी काम में आता है। ऐसे में जरुरत के समय ही शॉपिंग करें इससे आप पानी बचाने में अप्रत्यक्ष रूप से अपनी भागीदारी निभा सकते हैं।

* बारिश के पानी को जमा करिये और उस पानी को बर्तन धोने, कपडे धोने, गाडी धोने या फिर बागबानी में काम में लें।

“क्यों चढ़ाया जाता है सूर्य को जल ? जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण”
“जानिए क्या है बिजली गिरने की असली वजह और इससे बचने के तरीके ?”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment