टीआरपी क्या है?

0

आइये जानते हैं टीआरपी क्या है। कुछ समय पहले तक टीआरपी के बारे में बहुत ही कम लोग जानते थे लेकिन अब इसके बारे में जानने वालों की संख्या काफी बढ़ गयी है। इसका कारण शायद मीडिया में इस शब्द का ज़्यादा इस्तेमाल किया जाना रहा है।

आपने भी टीआरपी के बारे में सुना ज़रूर होगा और इसके बारे में ज़्यादा जानने के इच्छुक भी होंगे। ऐसे में आज हमें इसी बारे में बात करनी चाहिए। तो चलिए, आज जानते हैं टीआरपी के बारे में।

टीआरपी क्या है? 1

टीआरपी क्या है?

अगर आप भी टीवी देखने के शौकीनों में से एक हैं तो शायद आप भी दिनभर टीवी के सामने बैठकर अपने पसंदीदा टीवी शो देखा करते होंगे और आपका टीवी देखना टीआरपी को प्रभावित भी करता है।

टीआरपी का अर्थ है ‘टेलीविजन रेटिंग पॉइंट’ और ये टीवी से जुड़ा एक ऐसा टूल है जो ये बताता है कि किस टीवी शो को कितने लोग पसंद कर रहे हैं और बाकी टीवी शो की तुलना में उसकी क्या पोजिशन है।

टेलीविजन रेटिंग पॉइंट (TRP) के ज़रिये ही ये पता लगता है कि कोई भी शो दिन में कितनी बार और कितने समय के लिए देखा जा रहा है और सबसे ज़्यादा देखा जाने वाला सीरियल कौनसा है, ये भी टीआरपी से ही पता चलता है।

टीआरपी को मापने के लिए कुछ निर्धारित जगहों पर ‘पीपल मीटर’ लगाया जाता है जो एक फ्रीक्वेंसी के ज़रिये ये पता लगाता है कि कहाँ, कौनसा सीरियल देखा जा रहा है और कितनी बार देखा जा रहा है।

इस मीटर से टीवी से जुड़ी हर मिनट की जानकारी मॉनिटरिंग टीम के ज़रिये इंडियन टेलीविजन ऑडियंस मेजरमेंट को भेजी जाती है। इस जानकारी के बाद ही मॉनिटरिंग टीम ये तय करती है कि किस चैनल और शो की टेलीविजन रेटिंग पॉइंट (TRP) सबसे ज़्यादा है।

TRP को इतना ज़्यादा महत्व इसलिए दिया जाता है क्योंकि इसका सम्बन्ध किसी चैनल की कमाई से होता है। जिस चैनल को दर्शक कम देखा करते हैं उसकी टीआरपी गिर जाती है जिसके कारण उसे एडवरटाईसमेंट कम मिलने लगते हैं और उसकी कमाई पर बुरा असर पड़ता है।

जिस चैनल के शो बहुत ज़्यादा बार देखे जाते हैं, उसकी टीआरपी बहुत बढ़ जाती है जिसकी वजह से एडवरटाईसमेंट से चैनल को कमाई भी बहुत अच्छी होती है।

अब आप जान चुके हैं कि टीआरपी क्या है और टीवी चैनल्स के लिए इसका कितना महत्व होता है। उम्मीद है जागरूक पर टीआरपी क्या है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और अगली बार आप भी अपने पसंदीदा शो की TRP जरूर चेक करेंगे।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here