बरमूडा ट्राएंगल के रहस्य

सितम्बर 17, 2016

बरमूडा ट्राएंगल जो ‘डेविल्स ट्राएंगल’ के नाम से भी जाना जाता है और वो इसलिए क्योंकि इसमें चुके हैं कई ऐसे राज और रहस्य जिनका आज तक खुलासा नहीं हो पाया है। बरमूडा ट्राएंगल से कई ऐरोप्लेन्स, जहाज और नांव गुजर चुकीं हैं जिनका आजतक पता नहीं चला की वो चलते चलते कहाँ गायब हो गए और उनके क्रू मेंबर्स की भी कोई जानकारी नहीं मिली। एक आंकड़ों के अनुसार बरमूडा ट्राएंगल से प्रतिवर्ष करीब 4 हवाई जहाज़ और 20 समुद्री जहाज़ रहस्यमयी तरीके से लापता हो जाते हैं जिनकी बाद में कोई खबर नहीं मिलती। अब तक ना जाने बरमूडा ट्राएंगल ना जाने कितने लोगों की जिंदगी लील गया है। बरमूडा ट्राएंगल से जुड़े कई ऐसे राज हैं जिन पर से आज तक पर्दा नहीं उठ सका है, तो आइये बरमूडा ट्राएंगल के कुछ ऐसे रहस्यों के बारे में चर्चा करते हैं जो आज तक रहस्य ही बने हुए हैं।

गल्फ स्ट्रीम हो सकते हैं इसकी वजह – मैक्सिको खाड़ी से फ्लोरिडा के जलडमरू से होती हुई उत्तरी अटलांटिक तक फैली गल्फ स्ट्रीम का बहाव इतना तेज होता है की ये अपने साथ सारा मलबा और कचरा ले जाती है हो सकता है इस गल्फ स्ट्रीम के कारण ही यहाँ ऐसी दुर्घटनाएं होती हों और इन दुर्घटनाओं के शिकार जहाज इत्यादि का मलबा भी उसी के साथ चला जाता हो।

समुद्र के नीचे भारी मात्रा में मीथेन गैस भी हो सकती है दुर्घटनाओं की वजह – ऐसा कहा जाता है की बरमूडा ट्राइंगल के नीचे भारी मात्रा में ‘मीथेन हाइड्रेट’ जमा है और जब ये फटता है तो ये सबको अपनी चपेट में ले लेता है हो सकता है यहाँ से जाने वाले जहाज इत्यादि इसका शिकार हो जाते हों।

UFO और एलियंस भी हो सकते हैं इसकी वजह – बरमूडा ट्राइंगल को एलियंस का घर भी कहा जाता है तो हो सकता है यहाँ होने वाली दुर्घटनाओं के पीच एलियंस का हाथ हो।

बरमूडा ट्राइंगल में कम्पास भी काम नहीं करता – बरमूडा ट्राइंगल में कम्पास काम करना बंद कर देते हैं हो सकता है यहाँ से गुजरने वाले जहाजों को सही दिशा नहीं मिल पाने के कारण वो ऐसी दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हों। ऐसा भी कहा जाता है की यहाँ के एलियंस की वजह से कम्पास काम नहीं करता।

बादलों के सुरंग भी हो सकते हैं कारण – ऐसा कहा जाता है की बरमूडा ट्राइंगल में बादलों की सुरंग बनती है जहाँ ना तो कोई राडार काम करता है और ना ही किसी से संपर्क बन पाता है।बादलों की सुरंग ये सुरंग बहुत बड़े बवंडर का रूप ले लेता है इस कारण भी ऐसी दुर्घटनाओं का होना संभव है।

समुद्री लुटेरों की हो सकती है करतूत – लोगों का तो यहाँ तक कहना है की बरमूडा ट्राइंगल जैसी कोई जगह है ही नहीं बल्कि ऐसी दुर्घटनाओं के पीछे समुद्री लुटेरों है हाथ है और वो ही ऐसी अफवाह फैलाते हैं जिससे उनपर कोई शक ना कर पाए और वो ऐसी दुर्घटनाओं को अंजाम देते रहें और जहाज़ों को लूटते रहें।

“ब्रम्हांड के अनसुने रहस्य”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें