वशीकरण क्या है?

वशीकरण का नाम सुनते ही कई लोग घबरा जाते हैं जबकि कई लोग इसके बारे में जानने में दिलचस्पी दिखाते हैं। आज वशीकरण के मायने बहुत बदल गए हैं लेकिन वशीकरण क्या होता है, ये जानकारी तो आपके पास भी होनी चाहिए इसलिए आज आपको बताते हैं वशीकरण के बारे में।

वशीकरण के जरिये किसी भी व्यक्ति को अपने नियंत्रण में किया जा सकता है और उससे मनचाहा कार्य करवाया जा सकता है। ये भारत की एक प्राचीन विद्या रह चुकी है जिसका इस्तेमाल साधु-संत सिद्धियां पाने के लिए किया करते थे और मोक्ष का मार्ग आसान बनाने के लिए इस महान विद्या का इस्तेमाल करते थे लेकिन बदलते समय के साथ ये विद्या ऐसे लोगों के हाथ लग गयी जिन्होंने इसका दुरुपयोग करना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे एक महान विद्या काले जादू का रूप लेने लगी। लोगों को वश में करना और उन पर काला जादू करने जैसे ग़लत कार्यों में इसका इस्तेमाल होने लगा।

मध्यकाल में वशीकरण और सम्मोहन का गलत कार्यों में होने वाला इस्तेमाल सबसे ज्यादा बढ़ गया और आधुनिक काल में इस विद्या का उपयोग करके ईसाई मिशनरियों ने ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार किया और कहा जाता है कि ईसाई धर्म के लोगों ने इस विद्या के माध्यम से लोगों को सम्मोहित करके ईसाई धर्म को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ धर्म के रुप में स्थापित करने का पूरा प्रयास किया।

वशीकरण का इतना दुरुपयोग किया गया है कि आज किसी से मनचाहे कार्य करवाने के लिए उस पर वशीकरण करवा दिया जाता है। चाहे बात प्रेम सम्बन्ध की हो या टूटे रिश्तों की या फिर किसी से कोई ग़लत काम ही क्यों ना करवाना हो, आजकल वशीकरण की इतनी दुकानें खुल गयी हैं जो पैसों के लिए इस तरह के अमानवीय कार्यों को अंजाम देने के लिए तत्पर रहती हैं।

दोस्तों, वशीकरण एक प्राचीन विद्या है जिसका वास्तविक स्वरुप और उद्देश्य वर्तमान में कहीं खो गया है। ऐसे में काले जादू और वशीकरण के स्वार्थपूर्ण उद्देश्यों को समाप्त करने की जिम्मेदारी आपको भी लेनी होगी। इसके लिए आपको सिर्फ इतना करना है कि इस तरह के कामों से खुद को दूर रखना है और अपने आसपास के लोगों को इन ग़लत कामों को बढ़ावा देने से रोकने के लिए जागरूक करना है। उम्मीद है कि ये छोटी सी कोशिश आप आसानी से कर पाएंगे।

“आँख का वजन कितना होता है?”