राहुल द्रविड़ – क्रिकेट से हट कर

जैसा की हम सब जानते हैं की राहुल द्रविड़ क्रिकेट जगत में एक बहुत जाना माना नाम है। लेकिन आज हम क्रिकेट से हट कर बात करेंगे और आपको बताएँगे की इस महान खिलाडी को ऐसे ही महान नहीं कहा जाता है। इस जानकारी के बाद शायद आपके मन में भी इनके लिए सम्मान और बढ़ जायेगा।

1. एक करार के मुताबिक राहुल द्रविड़ को कुछ गरीब बच्चों के लिए बस बल्ले पर हस्ताक्षर देने को कहा गया। मगर राहुल द्रविड़ को जब यह बात पता चली तो वो खुद इन बच्चों से मिलने गए उनके साथ वक़्त बिताया क्रिकेट खेला और इन बच्चों को अपने जीवन में कभी हारा हुआ महसूस न होने की सलाह दी।

2. एक बार कलकत्ता में जब एक इंटरव्यू के दौरान संजय मांजरेकर ने सौरव गांगुली के बारे में कुछ कड़े शब्द इस्तेमाल किये तो राहुल ने यह कह कर वो शब्द इंटरव्यू में से हटवा दिए की हमे किसी को अपने शब्दों से आहत पहुंचाने का कोई हक़ नहीं बनता और सौरव कलकत्ता की जनता के हीरो हैं और इस कथन से वो लोग भी आहात होंगे।

3. राहुल द्रविड़ एक पारिवारिक इंसान हैं वो अपने परिवार को भी उतना ही समय देते हैं जितना क्रिकेट को दते हैं। इसी सामंजस्य को बिठाने की वजह से उन्हें क्रिकेट जगत में काफी सम्माननीय व्यक्ति के तौर पर जाना जाता है।

4. शरथ गायकवाड़ जो की अपनी शारीरिक कमी के कारण स्विमिंग से सन्यास लेने की सोच रहे थे वो सिर्फ राहुल द्रविड़ की वजह से इस खेल में बने रह पाये और नए कीर्तिमान भी स्थापित किये। उन्होंने कुल 6 पदक जीते जिनमे 1 स्वर्ण और 5 ब्रोंज मेडल शामिल हैं।

5. एक कैंसर से जूझ रहे फैन को उन्होंने विडिओ कॉल के द्वारा सम्बोधित किया और वहां पर ना आने के लिए माफ़ी भी मांगी। यह इस खिलाडी की समानता को दर्शाता है।

6. अपनी पारिवारिक ज़िम्मेदारियों की वजह से उन्होंने भारतीय टीम का कोच बनने से इंकार कर दिया था।

7. मगर भारतीय क्रिकेट के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अंडर-19 की टीम के कोच पद को सँभालने की ज़िम्मेदारी निभाई।

8. उनकी पत्नी विजिता के अनुसार राहुल किसी भी चीज़ के लिए शिकायत नहीं करते, उनके मुताबिक जैसे शिकायत का कोई अंत नहीं है उतना ही दिमाग हम अपने सुधार पर लगाएं तो ज़्यादा अच्छा होगा क्योँकि उसका भी कोई अंत नहीं है।