हर व्यक्ति के फिंगरप्रिंट्स अलग क्योँ होते है ?

176

जिस प्रकार हर व्यक्ति का व्यवहार अलग होता है उसी प्रकार हर व्यक्ति के फिंगर प्रिंट्स भी अलग होते है लेकिन क्या कभी आपने सोचा है ऐसा क्योँ होता है ? तो चलिए आज हम आपको बताते है की इस क्योँ होता है।

आपको यह बात जानकर हैरानी होगी की फिंगरप्रिंट्स आपके जन्म से लेकर मृत्यु तक एक समान ही रहते है। और इनके द्वारा आसानी से किसी भी इंसान को पहचान जा सकता है। कई मामलों में जुर्म पर से पर्दा उठाने में भी इसका इस्तेमाल होता है।

फिंगर प्रिंट हमारे शरीर में स्टेम सेल और रिजटाइप सेल से बनते है और इन सेलस पर गर्मी या केमिकल का भी प्रभाव नहीं पड़ता है। यहाँ तक की अगर आप अपनी चमड़ी उतार भी देंगे तो भी यह ख़राब नहीं होते क्योँकि यह आपकी खाल के भीतरी हिस्से तक रहते है।

फिंगरप्रिंट के द्वारा कई प्रकार के अपराधियों का पता लग पाया है और यह कानूनी प्रक्रिया में बहुत लाभदायक सिद्ध होते है। इसके द्वारा ही यह पता लगता है की किस व्यक्ति ने कोनसे चीज़ को छुआ था जिसे केमिकल के जरिये परखा जा सकता है।

हर व्यक्ति के बॉडी सेल भी अलग होते है इसी वजह से फिंगरप्रिंट का अलग होना भी लाज़मी है। हम आशा करते है की आपके इस सवाल का जवाब हम दे पाए है और आप इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ आवश्य शेयर करेंगे।

Source

Add a comment