क्यों घड़ी की सुइयां पश्चिम से पूर्व की ओर ही घूमती हैं ?

यह कहावत तो हम सभी को पता है कि समय किसी के लिए नहीं रुकता। आमतौर पर सभी लोग हर काम समय के हिसाब से ही करते हैं लेकिन क्या कभी आपने गौर किया है की घड़ी की सुइयां पश्चिम से पूर्व की ओर ही क्यों घूमती हैं?

नहीं ना तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि इसके पीछे क्या रहस्य है। पुरातन काल में सभी लोग सूर्य को ही अपनी घड़ी मानते थे। उसी की रोशनी के सहारे यह अंदाजा लगाया जाता था की अभी समय क्या समय हुआ है और इसी का रिकॉर्ड भी रखा जाता था। आपने इसका उदाहरण जंतर मंतर पर जरुर देखा होगा जहां पर परछाई के सहारे समय का अंदाजा लगाया जा सकता है। यह माना जाता है की प्राचीन समय में लोगों ने उत्तरी गोलार्ध में रहते हुए समय का अंदाजा लगाना शुरु किया था इसीलिए यह सारा सिस्टम क्लॉक वाइस बना अगर वह लोग दक्षिणी गोलार्ध में रहते तो शायद यह चीज कुछ और होती और यही कारण है की घड़ी की सुइयां भी पश्चिम से पूर्व की ओर घूमती है।

हम आशा करते हैं यह जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित हुई होगी। अगर ऐसा है तो इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ भी शेयर करें अपनी प्रतिक्रिया अवश्य दें।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment